गिरफ्तारी देकर नवाज शरीफ ने खेला सहानुभूति कार्ड, मिल सकता है चुनाव में फायदा

गिरफ्तारी देकर नवाज शरीफ ने खेला सहानुभूति कार्ड, मिल सकता है चुनाव में फायदा

Mangala Prasad Yadav | Publish: Jul, 14 2018 10:19:52 AM (IST) एशिया

नवाज शरीफ ने चुनाव जीतने के लिए गिरफ्तारी देकर सहानुभूति का कार्ड खेला है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में 25 जुलाई को होने वाले आम चुनाव से पूर्व प्रधानमंत्री और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के सुप्रीमों नवाज शरीफ ने बड़ा राजनीतिक दांव खेला है। विदेश से बेटी के साथ पाकिस्तान आना और एयरपोर्ट पर ही गिरफ्तारी देना यह महज संयोग नहीं है। भ्रष्टाचार के संगीन आरोपों से घिरी पीएमएल-एन आम चुनाव में बेहद खराब स्थिति से जूझ रही है। पार्टी को उबारने के लिए ही नवाज शरीफ ने गिरफ्तारी दी है। दरअसल नवाज को लगता है कि बेटी के साथ गिरफ्तारी से उनको पाकिस्तान के लोगों की सुहानुभूति मिल सकती है।

पीएमएल-एन की रणनीति का दिखा असर
पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) यानी पीएमएल-एन की इस रणनीति का असर शुक्रवार देर रात को ही दिख गया, जब पार्टी कार्यकर्ता सड़कों पर एकजुट होकर नारेबाजी कर रहे थे। नवाज की गिरफ्तारी के बाद बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ताओं को मातम मनाने की बजाय जश्न मनाते देखा गया। नवाज शऱीफ भी यही चाहते थे कि उनकी गिरफ्तारी के बाद पार्टी कार्यकर्ता जोश के साथ चुनाव प्रचार में जुटें और एकजुट होकर पार्टी के लिए काम करें।

वोट के लिए नवाज ने चली ये चाल
पाकिस्तान आने से पहले लंदन में नवाज शरीफ ने बेटी मरियम के साथ प्रेस कांफ्रेंस किया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि वह चोर नहीं हैं। इसके अलावा उन्होंने भावुक अपील करते हुए कहा कि वह जेल में रहकर भी संघर्ष जारी रखेंगे। नवाज शरीफ ने पाकिस्तान के लोगों से अपील किया कि उन्हें इस संकट की घड़ी में वे अकेला न छो़ड़ें। इसके अलावा उन्होंने पत्नी कुलसुम की बीमारी को लेकर भी भावुक बयान दिया जो कैंसर से जुझ रही हैं।

इन पार्टियों में है टक्कर
पूर्व क्रिकेटर इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की स्थिति इस समय आम चुनावों में नवाज शरीफ की पार्टी से अच्छी बताई जा रही थी। लेकिन अब नवाज शरीफ की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) भी स्थिति बेहतर हो सकती है। अगर पीएमएल-एन को सहानुभूति का वोट मिला तो आने वाले समय में नवाज शरीफ की मुश्किलें कम हो सकती हैं।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned