कोरोना संक्रमण से नेपाल का बुरा हाल, भारत की तरह स्वास्थ्य सेवाओं की कमी से जूझ रहा

बीते माह तक एक दिन में संक्रमण के सिर्फ 100 मामले आ रहे थे। मगर अब दस हजार के करीब मामले आ रहे।

By: Mohit Saxena

Published: 11 May 2021, 02:38 PM IST

नई दिल्ली। भारत की तरह उसका पड़ोसी देश नेपाल भी कोरोना वायरस की दूसर लहर से जूझ रहा है। करीब तीन करोड़ की आबादी वाले इस छोटे से देश में बीते माह तक एक दिन में संक्रमण के सिर्फ 100 मामले आ रहे थे। मगर अब वहां एक दिन में 10 हजार के करीब मामले आ रहे हैं।

Read More: नागालैंड में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा 14 मई से होगा लागू, इनको मिल सकती है छूट

संक्रमण के 9,127 नए मामले

नेपाल के स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार सोमवार को यहां पर बीते 24 घंटे में संक्रमण के 9,127 नए मामले और 139 मौतें दर्ज की गई हैं। महामारी होने के बाद यहां पर अब तक कुल करीब चार हजार लोगों की मौत हो गई है। यहां पर हाल के हफ्तों में मौत का आंकड़ा तेज़ी से बढ़ रहा है।

Read More: गोवा में 18 साल से ज्यादा उम्र वालों को दी जाएगी 'आइवरमेक्टिन दवा', मंत्री का दावा- कम होगी मृत्यु दर

संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े

भारत की तरह नेपाल में दूसरी लहर से युवा नहीं बच पा रहे हैं। नेपाल में संक्रमित लोगों में सबसे अधिक 20 से 40 वर्षीय उम्र के लोग अधिक हैं। नेपाल में अधिकतर लोग लॉकडाउन में हैं, लेकिन फिर भी संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यहां पर लगभग हर घर में एक मरीज सामने आ रहा है। यहां पर अस्पतालों में लोगों का इलाज करने में परेशानी का सामना कर रहे हैं। मरीज ऑक्सीजन की किल्लत से जूझ रहे हैं। पशुपतिनाथ आर्यघाट पर शवों की लंबी कतार लगी हुई है।

कोविड से मौत होने वाले लोगों का अंतिम संस्कार काठमांडू के बागमती नदी के किनारे किया जा रहा है। बीते कुछ दिनों में मौतों की संख्या दहाई अंकों में आने लगी थी। अब ये संख्या सैकड़े में बदल चुकी है।

coronavirus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned