नॉर्थ कोरिया ने परमाणु परीक्षण स्थल को नष्ट किया, इसी जगह किए थे 6 न्यूक्लियर टेस्ट

उत्तर कोरिया ने अपनी बात पर कायम रहते हुए गुरुवार को अपने परमाणु परीक्षण स्थल को विदेशी पत्रकारों की मौजूदगी में नष्ट किया।

By: Mohit sharma

Published: 24 May 2018, 07:49 PM IST

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया ने अपनी बात पर कायम रहते हुए गुरुवार को अपने परमाणु परीक्षण स्थल को विदेशी पत्रकारों की मौजूदगी में नष्ट किया। उत्तर हैमग्योंग प्रांत के किल्जू में पुंग्ये-री को उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रम के सबसे महत्वपूर्ण स्थलों में से एक माना जाता है। एक अन्य स्थल योंगबयोन परिसर है।योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, उत्तर कोरिया के सभी छह परमाणु परीक्षण यहीं किए गए। इसमें सितंबर में किया गया सबसे शक्तिशाली विस्फोट भी शामिल था।यह 1,000 मीटर से ज्यादा ऊंचे पहाड़ो से घिरा हुआ है और भूमिगत ग्रेनाइट चट्टानों के नीचे बना हुआ है। जानकारों का कहना है कि पुंग्ये-री में विस्फोटक झटके बर्दाश्त करने और रेडियोधर्मी रिसाव के जोखिम को कम करने के लिए सर्वोत्तम भौगोलिक स्थितियां हैं।

निपाह वायरस को लेकर 5 राज्यों में अलर्ट, हिमाचल में 20 चमगादड़ों के शव से हड़कंप

इसमें चार भूमिगत सुरंगें थीं। इन्हें खतरनाक गैस या मलबे को रोकने के लिए बनाया गया था। खतरे को कम करने के लिए कई विभाजन दीवारों और लॉक दरवाजों को भी लगाया गया था।ऐसा कहा जाता है कि उत्तर कोरिया का 2006 का परमाणु परीक्षण पूर्वी सुरंग में किया गया था। इसे रेडियोएक्टिव सम्मिश्रण के कारण बंद कर दिया गया था।इसके बाद दूसरा परीक्षण 2009 में व तीसरा 2013 मे पश्चिमी सुरंग में किया गया। हाल में हुए तीन परीक्षण उत्तरी सुरंग में किए जाने की बात कही जाती है।दक्षिण कोरिया सरकार व मीडिया ने पहले परमाणु परीक्षण के बाद इस स्थल को पुंग्येरी कहना शुरू किया। उत्तर कोरिया इसे 'उत्तरी भूमिगत परमाणु स्थल' कहता है।

नीदरलैंड बना अंतर्राष्ट्रीय सौर गठबंधन का सदस्य, पीएम मोदी ने जताई खुशी

इंस्टीट्यूट फॉर ईस्टर्न स्टडीज इन क्यूंगानाम यूनिवर्सिटी के चांग चेओल-उन ने कहा कि पुंग्ये-री परीक्षण स्थल का इस्तेमाल उत्तर कोरिया ने अपनी परमाणु क्षमता को उन्नत करने के लिए किया। उन्होंने कहा कि इसे उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण स्थल को अंतिम रूप से खत्म करने का प्रतीक माना जाना चाहिए। परमाणु परीक्षण स्थल को ध्वस्त किए जाने को दिखाने के लिए उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया, अमेरिका, चीन व रूस व ब्रिटेन के पत्रकारों के समूह को इस कार्यक्रम के लिए आमंत्रित किया था। मौके पर मौजूद विदेशी पत्रकारों ने दावा कि वहां पर कुछ जोरदार धमाके हुए थे। हालांकि, संदेह जताने वालों का कहना है कि इसे नष्ट करने का कोई खास अर्थ नहीं भी हो सकता है क्योंकि हो सकता है कि पुंग्ये-री लगातार परीक्षणों के बाद अब किसी काम का न रह गया हो।

 

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned