किम जोंग उन की दक्षिण कोरिया को चेतावनी, सैन्य अभ्यास का बदला है मिसाइलों का प्रक्षेपण

किम जोंग उन की दक्षिण कोरिया को चेतावनी, सैन्य अभ्यास का बदला है मिसाइलों का प्रक्षेपण

Mohit Saxena | Publish: Jul, 26 2019 03:10:56 PM (IST) | Updated: Jul, 27 2019 01:25:49 PM (IST) एशिया

  • दक्षिण कोरिया और अमरीका के बीच होने वाले संयुक्त अभ्यास को लेकर उत्तर कोरिया ने सवाल उठाए
  • कहा, दक्षिण कोरिया बंद करे आधुनिक हथियारों का आयात करना

सियोल। दक्षिण कोरिया और अमरीका के बीच होने के संयुक्त अभ्यास को लेकर उत्तर कोरिया ने नाराजगी जताई है। उत्तर कोरिया के तानाशाह ने चेतावनी दी है कि गुरुवार को हुए दो मिसाइल परीक्षण को दक्षिण कोरिया एक चेतावनी के रूप में ले। उसने कहा कि दक्षिण कोरिया इस तरह के हथियारों का इस्तेमाल करना बंद कर दे। गौरतलब है कि दक्षिण कोरिया ने दो छोटी दूरी की मिसाइलों का परीक्षण कर विश्व समुदाय को चौंका दिया है। खासकर अमरीका की सभी कोशिशों पर पानी फेर दिया है। उत्तर पूर्वी तटीय शहर वॉनसन से ये मिसाइलें दागी गईं।

हर साल दक्षिण कोरिया और अमरीका के बीच यह युद्धाभ्यास किया जाता है। इसमें आधुनिक हथियारों का इस्तेमाल होता है। उत्तर कोरिया को आपत्ति है कि दक्षिण कोरिया अगर चाहता है कि उसका पड़ोसी देश परमाणु हथियारों को छोड़ दे तो उसे अपने आपकों को नियंत्रित रखना चाहिए।

वॉनसन क्षेत्र से दो अझात परीक्षण

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार उत्तर कोरिया ने स्थानीय समय के अनुसार गुरुवार को तड़के 5.34 बजे और इसके बाद 5.57 बजे वॉनसन क्षेत्र से दो अझात परीक्षण किए। हालांकि इस तरह से परीक्षण उत्तर कोरिया पहले भी करता रहा है। मगर यह पहला मौका होगा जब उत्तर कोरियाई तानाशाह किम जोंग और अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच हाल ही में हुई अहम मुलाकात के बाद ये परीक्षण किया गया।

उत्तर कोरिया ने समुद्र में छोड़ीं मिसाइलें, दक्षिण कोरिया ने कहा- किसी भी हमले के लिए तैयार

 

 

kim jong

नौ मई को परीक्षण किया था

गौरतलब है कि जून के अंत में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन के बीच मुलाकात हुई। इसके बाद यह पहली मिसाइल लांचिंग है। उत्तर कोरिया ने इससे पहले नौ मई को परीक्षण किया था, जिसमें दो मिसाइलें लॉच की गई थीं। इन दोनों मिसाइलों के साथ-साथ छोटे रॉकेट भी शामिल थे।

उत्तर कोरिया ने क्यों दिया ऐसा बयान?

परमाणु कार्यक्रम जारी नहीं रखेगा

जून में हुई ट्रंप और किम की मुलाकात के बाद किम ने इस बात का भरोसा दिलाया था कि उत्तर कोरिया में अब कोई परमाणु कार्यक्रम जारी नहीं रखेगा। इस परीक्षण से ऐसा लगाता है कि उत्तर कोरिया सुधरने वाला नहीं है। ट्रंप इससे पहले भी दो बार उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग से मुलाकात कर चुके हैं। पहली मुलाकात सिंगापुर और दूसरी मुलाकात हनोई में कर चुके हैं।

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned