पाकिस्तान ने गृहमंत्री शेख राशिद का बयान- भारत को अब अफगानिस्तान छोड़ना पड़ेगा

पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद ने अफगानिस्तान के कंधार से भारत द्वारा अपने कर्मियों को हटाने को लेकर किया ये दावा।

By: Mohit Saxena

Published: 12 Jul 2021, 07:41 PM IST

नई दिल्ली। भारत के कंधार कॉन्सुलेट की बंद होने की खबर को लेकर पाकिस्तान इस समय बेहद खुश है। पाकिस्तान ने एक बार फिर से भारत के खिलाफ जहर उगला है। पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख राशिद ने भारत के अफगानिस्तान में कंधार से अपने कर्मियों को हटाने को लेकर कहा कि भारत के पास अफगानिस्तान से निकलने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है। अफगानिस्तान में भारत की जग हंसाई हुई है। उन्होंने कहा कि भारत ने पाक के खिलाफ अफगानिस्तान में रहकर बीते 40 साल से आतंक को सिर्फ बढ़ावा दिया है।

ये भी पढ़ें: NASA ने शेयर की हिंदू देवी-देवताओं संग बैठी भारतीय इंटर्न की तस्वीर, मच गया हंगामा, लोगों ने कहा- साइंस का नाश

कोई और रास्ता नहीं बचा

गृहमंत्री शेख राशिद ने भारत द्वारा अपने कर्मियों को कंधार से हटाने को लेकर कहा कि भारत के पास अफगानिस्तान छोड़ने के अलावा किसी तरह का कोई और रास्ता नहीं बचा है। गृहमंत्री ने दावा किया कि भारत अफगानिस्तान की जमीन से पाकिस्तान के खिलाफ आतंक को बढ़ावा दे रहा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ऐसी पोजिशन पर है जिसे चीन के साथ अमरीका भी अनदेखा नहीं कर सकता है। वहीं भारत ने पाकिस्तानी नेताओं के इस दावे का खंडन किया है।

तालिबान पहले से ज्यादा समझदार

गृहमंत्री राशिद के अनुसार तालिबान पहले से ज्यादा समझदार हो चुका है। यह पूरे क्षेत्र के लिए अहम है कि वह तालिबान के साथ अपने मामले बातचीत के जरिए सुलझाए। तालिबान पर दबाव बनाने के लिए भारत को बातचीत के रास्ते को अपनाना होगा।

इमरान ने दिया था विवादित बयान

गौरतलब है कि अफगानिस्तान से अमरीकी सेनाओं की वापसी पर पाक के पीएम इमरान खान ने बीते दिनों विवादित बयान दिया था। इमरान खान ने कहा कि इस इलाके में अब बहुत ही गंभीर बदलाव देखने को मिल रहे हैं। इसमें भारत 'सबसे बड़ा लूजर' साबित होगा।

ये भी पढ़ें: अमरीका ने चीनी कंपनियों पर लगाए प्रतिबंध, चीन ने जवाब देने की धमकी दी

इमरान खान का दावा है कि इस बात के साक्ष्य सामने आए हैं कि भारत लाहौर में हालिया आंतकी घटना में शामिल है। इसके साथ अमरीका पर तंज कसते हुए कहा कि अफगानिस्तान में जिस तरह के बदलाव हो रहे हैं, उससे खुद अमरीका को भी नुकसान होगा।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned