पाकिस्तान और भारत दोबारा शांति कायम करने की कोशिश करें: चीन

पाकिस्तान और भारत दोबारा शांति कायम करने की कोशिश करें: चीन

Mohit Saxena | Updated: 26 Feb 2019, 05:28:36 PM (IST) एशिया

- चीन के विदेश मंत्रालय ने कहा कि यह असैन्य कार्रवाई थी
- कहा-आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई में सभी को साथ आना होगा
- दोनों देशों के बीच दूरियां खत्म होनी चाहिए

बीजिंग। भारतीय वायुसेना ने मात्र 21 मिनट में मंगलवार को पीओके स्थित जैश के आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया। पाकिस्तान की सीमा में 40 किलोमीटर अंदर घुसकर की गई इस कार्रवाई को लेकर भारत के साथ पूरी दुनिया खड़ी हुई है। इस मौके पर चीन ने भी अपनी पहली प्रतिक्रिया दी है। उसका कहना है कि यह एक असैन्य कार्रवाई थी, जिसमें सिर्फ आतंकी कैंपों को ही निशाना बनाया गया है। चीन ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि आने वाले समय में दोनों देश तनाव खत्म कर शांति कायम करेंगे। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता लू कैंग ने कहा कि भारत और पाकिस्तान दोनों दक्षिण एशिया के अहम देशों में से एक हैं। दोनों के बीच दूरियां अगर खत्म होती हैं तो पूरे दक्षिण एशिया में शांति कायम होगी। हम उम्मीद करते हैं कि दोनों के बीच द्विपक्षीय संबंध बेहतर होंगे।

आवश्यक सहयोग की आवश्यकता है

बीजिंग में यहां आयोजित विदेश मंत्रालय की ब्रीफिंग में,लू ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि यह एक गैर-सैन्य कार्रवाई थी। उन्होंने कहा कि आतंकवाद से लड़ना एक वैश्विक अभ्यास है और इसके लिए आवश्यक सहयोग की आवश्यकता है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बीच सोमवार को लंबी बातचीत हुई थी। चीनी विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत और पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ सहयोग को आगे बढ़ाने की जरूरत है। क्षेत्र में शांति और स्थिरता जरूरी है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned