आखिर किस तस्वीर को देखकर Nawaz Sharif पर उठे सवाल, पाक ने उठाई प्रत्यर्पण की मांग

Highlights

  • 29 अक्टूबर 2019 को कोर्ट ने नवाज को पाकिस्तान (Pakistan) में उपचार के लिए आठ सप्ताह की जमानत दी थी।
  • सरकार नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) को लेकर राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) में अपील करेगी।

By: Mohit Saxena

Updated: 23 Aug 2020, 10:29 PM IST

लाहौर। सोशल मीडिया पर आई एक तस्वीर में बेटे संग टहलते दिखे नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) को देखकर पाक सरकार ने कई सवाल उठाए हैं। तस्वीर में शरीफ लंदन की सड़कों पर अपने बेटे हसन नवाज के साथ एक छाता लिए टहलते हुए दिखाई दिए। इस पर इमरान खान के सलाहकार का कहना है कि लंदन की सड़कों पर घूमने की उनकी तस्वीरें न्यायपालिका पर करारा प्रहार है। सरकार इसकी अनुमति नहीं दे सकती।

दरअसल पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व पीएम नवाज शरीफ (Nawaz Sharif) की 2019 में चिकित्सा के लिए ली जमानत की मियाद अब खत्म हो चुकी है। ऐसे में इमरान सरकार उन्हें अब एक भगोड़ा कह रही है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान (Imran Khan) के आंतरिक मामलों के सलाहकार शाहजाद अकबर का कहना है कि पूर्व पीएम नवाज शरीफ एक भगोड़ा है और उनके प्रत्यर्पण को लेकर सरकार ने ब्रिटिश सरकार से गुहार लगाई है।

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार शाहबाज ने कहा कि पाक सरकार नवाज के साथ एक भगोड़े की तरह व्यवहार कर रही है और उनके प्रत्यर्पण को लेकर ब्रिटिश सरकार से आग्रह किया जा चुका है। उन्होंने इशारा किया की नवाज का स्वास्थ्य अब पूरी तरह से ठीक है और उनके खिलाफ की गई कार्रवाई एक व्यक्ति के खिलाफ किए हमले के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि लंदन की सड़कों पर उनका (नवाज) टहलना न्यायपालिका के मुंह पर बड़ा तमाचा है। सरकार इस तरह की अनुमति नहीं दे सकती। इसमें कुछ भी व्यक्तिगत नहीं है। हम सिर्फ कानून को लागू कर इसकी आवश्यकताओं को पूरा करने की कोशिश में हैं। उन्होंने कहा कि सरकार नवाज को लेकर राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) में अपील करेगी।

शाहबाज ने कहा कि एनबीए से अपील करने के साथ सरकार छोटे भाई शाहबाज शरीफ द्वारा अपने बड़े भाई को इलाज के लिए पाकिस्तान से बाहर भेजने के लिए दी गई गारंटी की वैधता को भी जांचेगी। उन्होंने वादा किया था कि उपचार के बाद नवाज को पाकिस्तान वापस लाया जाएगा। शाहजाद के अनुसार 29 अक्टूबर 2019 को कोर्ट ने नवाज को पाकिस्तान में उपचार के लिए आठ सप्ताह की जमानत दी थी। इसके बाद 16 नवंबर 2019 को नवाज को चार सप्ताह के लिए विदेश जाने की इजाजत मिल गई थी।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned