Pakistan की नापाक चाल, गिलगिट-बाल्टिस्तान में आज कराए जा रहे हैं चुनाव

HIGHLIGHTS

  • Elections In Gilgit-Baltistan: बीतें दिनों इमरान सरकार ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) के एक हिस्से गिलगिट-बाल्टिस्तान को अस्थाई प्रांत का दर्जा दिया था और अब कानूनी मान्यता दिलाने के लिए अवैध तरीके से चुनाव कराए जा रहे हैं।
  • भारत ने इसपर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि पाकिस्तान को इस क्षेत्र में चुनाव कराने का अधिकार नहीं है।

By: Anil Kumar

Updated: 15 Nov 2020, 11:16 AM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान ( Pakistan ) अपनी नापाक चाल चलते हुए आज PoK के गिलगिट-बाल्टिस्तान में अवैध रूप से चुनाव ( Election In Gilgit-Baltistan ) करा रहा है। पाकिस्तान ने पिछले 70 वर्षों से जम्मू-कश्मीर के एक हिस्सा को अवैध रूप से कब्जा जमाया है।

इसी महीने नंबर में इमरान सरकार ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) के एक हिस्से गिलगिट-बाल्टिस्तान को अस्थाई प्रांत का दर्जा दिया था और अब कानूनी मान्यता दिलाने के लिए अवैध तरीके से चुनाव कराए जा रहे हैं।

Pakistan: PoK पर Imran Khan की नापाक चाल, गिलगिट-बाल्टिस्तान को 5वां प्रांत बनाने की तैयारी

भारत ने इसपर कड़ी आपत्ति जताते हुए कहा है कि पाकिस्तान को इस क्षेत्र में चुनाव कराने का अधिकार नहीं है। भारत ने कहा है कि गिलगिट-बाल्टिस्तान क्षेत्र रणनीतिक रूप से भारत के केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का हिस्सा है। पाकिस्तान ने इस क्षेत्र में अवैध रूप से कब्जा किया हुआ है।

भारत ने जताया कड़ा विरोध

गिलगिट बाल्टिस्तान में पाकिस्तान की ओर से कराए जा रहे चुनाव को लेकर भारत ने कड़ा ऐतराज जताया है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा 'हमने 15 नवंबर, 2020 को होने वाले तथाकथित गिलगिट-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए चुनावों की घोषणा के बारे में रिपोर्ट देखी है। हम पाकिस्तान के इस कदम पर कड़ा विरोध जताते हैं।'

बयान में आगे कहा गया है कि भारत इस बात को फिर से दोहराता है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के साथ-साथ गिलगिट-बाल्टिस्तान का क्षेत्र 1947 से ही भारत का अभिन्न अंग हैं। पाकिस्तान ने गिलगिट-बाल्टिस्तान में अवैध रूप से कब्जा किया है और पाकिस्तान सरकार को इस क्षेत्र में चुनाव कराने का कोई अधिकार नहीं है।

चुनावी मैदान में उतरे सभी दलों के प्रत्याशी

आपको बता दें कि गिलगिट-बाल्टिस्तान विधानसभा के लिए चुनाव कराए जा रहे हैं। इस चुनाव में पाकिस्तान के तमाम सियासी दलों के प्रत्याशी मैदान में उतरे हैं। सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) और विपक्षी पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) और पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (PML-N) ने गिलगिट-बाल्टिस्तान में चुनाव प्रचार किया था। इस चुनाव के जरिए विधानसभा प्रतिनिधियों को चुना जाएगा।

Pakistan ने गिलगिट बाल्टिस्तान को दिया प्रांत का दर्जा, भारत ने किया विरोध

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कुछ दिनों पहले एक सभा को संबोधित करते हुए गिलगिट-बाल्टिस्तान को प्रांत का दर्जा देने का ऐलान किया था। इसपर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी। माना जा रहा है कि इस चुनाव के बाद गिलगिट-बाल्टिस्तान को कानूनी मान्यता देते हुए पाकिस्तान का प्रांत घोषित कर दिया जाएगा।

हालांकि गिलगिट-बाल्टिस्तान में पाकिस्तान का भारी विरोध किया जा रहा है। लगातार पाकिस्तान सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं और लोगों में भारी आक्रोश है। अब देखना दिलचस्प होगा कि आखिर भारत इसके बाद से क्या कदम उठाता है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned