पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज के पास अब भी है शरीफ रास्ता, सब सही रहा तो मिलेगी जमानत!

पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज के पास अब भी है शरीफ रास्ता, सब सही रहा तो मिलेगी जमानत!

dheeraj sharma | Publish: Jul, 14 2018 11:44:15 AM (IST) | Updated: Jul, 14 2018 11:50:45 AM (IST) एशिया

पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और बेटी मरियम के पास अब भी चुनाव से पहले बाहर निकलने का रास्ता।

नई दिल्ली। पाकिस्तान की सियासत में इन दिनों सरगर्मिया काफी तेज हैं। चुनाव सिर पर हैं और राजनीतिक दल एक दूसरे पर जमकर आरोप-प्रत्यारोप लगा रहे हैं। इस बीच पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का पाकिस्तान लौटना और आते ही बेटी मरियाम के साथ गिरफ्तार हो जाना भी सोची समझी रणनीति का हिस्सा है। नवाज शरीफ और उनकी बेटी को रावलपिंडी स्थित आदियाला जेल में रखा गया है। देश के इस प्रभावशाली परिवार को उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के तीन मामलों में से एक में दोषी करार दिया गया है। ऐसे में पूर्व पीएम के पास अब कौनसे शरीफ रास्ते बचे हैं...


इस रास्ते पर चलेंगे नवाज
पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के पास अब जो रास्ता बचा है उसके तहत उनके वकील ख्वाजा हरीफ जवाबदेही कोर्ट के फैसले के खिलाफ इस्लामाबाद हाईकोर्ट में अपील दायर करेंगे। इस अपील पर उच्च न्यायालय फैसला करेगा कि अपील स्वीकार्य है या नहीं।


इसके बाद जमानत की तैयारी
इस्लामाबाद हाईकोर्ट नवाज शरीफ की ओर दायर अपील को स्वीकार कर लेता है तो इसके बाद शरीफ का अगला कदम होगा जमानत। जी हां इसके बाद नवाज शरीफ जमानत के लिए अपनी अपील दायर करेंगे। अगर पूर्व पीएम को जमानत नहीं मिलती है तो फिर उन्हें हर हालत में न्यायिक हिरासत में रहना होगा।

केरल में कांग्रेस और सीपीएम को राम नाम का सहारा, बीजेपी के किले में सेंध लगाने की तैयारी
आत्मसमर्पण की बड़ी वजह
आपको ये बताते चलें कि पाकिस्तान में किसी भी दोषी को तभी सुरक्षा या फिर सहूलियत मुहैया कराई जाती है जब तक वे एक निर्धारित समय के अंदर आत्मसमर्पण न कर ले। यही एक बड़ी वजह रही है कि नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम ने देश आकर आत्मसमर्पण किया है।

 


इस अधिकार का कर सकते हैं इस्तेमाल
पाकिस्तान के पूर्व पीएम नवाज शरीफ और उनकी बेटी मरियम के पास आत्मसमर्पण के बाद ये अधिकार है कि वे राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो अध्यादेश की धारा 32 के तहत हाईकोर्ट में अपील दायर कर सकते हैं। हालांकि शरीफ और उनकी बेटी को राहत मिलेगी ये कहना अभी जल्दबाजी होगी क्योंकि यह पूरी हाईकोर्ट के फैसले पर निर्भर करता है। कोर्ट को यह जांच करनी होगी कि जवाबदेही ब्यूरो के फैसले में कितना दम है। फैसले में कोई खामी पाई जाती है तो इसके आधार पर इस्लामाबाद हाईकोर्ट के सजा के फैसले को पलट सकता है।


ये है पूरा मामला
पाकिस्तान के पूर्व पीएम और उनकी बेटी पर लंदन में चार आलीशान फ्लैटों की मिल्कियत से जु़ड़े एवेनफील्ड संपत्ति मामले में दोषी ठहराया गया था। इसके तहत नवाज शरीफ औऱ मरियम को जवाबदेही अदालत ने 10 और 7 साल की सजा सुनाई है। इसके अलावा शरीफ परिवार दो अन्य भ्रष्टाचार के मामलों का भी सामना कर रहा है।

Ad Block is Banned