विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के बाद पाकिस्तान में घमासान, जिम्मेदारी लेने को कोई तैयार नहीं

- विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान की रिहाई को लेकर पाकिस्तान में घमासान
- पाकिस्तान में कोई अभिनंदन की रिहाई की जिम्मेदारी उठाने को तैयार नहीं
- मोहरे की तरह विंग कमांडर को इस्तेमाल करना चाहती थी पाक सरकार
- पाकिस्तान आर्मी ने लगाई रिहाई पर अंतिम मुहर

By: Siddharth Priyadarshi

Updated: 04 Mar 2019, 07:40 AM IST

लाहौर। विंग कमांडर अभिनंदन वर्थमान की रिहाई को लेकर पाकिस्तान में घमासान मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि पाकिस्तान सरकार इसको लेकर एकमत नहीं थी। अब अभिनंदन की रिहाई के बाद इस बारे में मतभेद सतह पर आते जा रहे हैं। आपको बता दें कि ज्यादातर लोगों ने पाकिस्तान में इस फैसले का स्वागत किया है, लेकिन इस रिहाई के विरोध में भी कुछ स्वर उभरे हैं। हालत यह है कि पाकिस्तान में कोई भी अभिनंदन की रिहाई की जिम्मेदारी उठाने के लिए कोई तैयार नहीं है।

ईरान ने ब्रिटेन से जताया सख्‍त ऐतराज, हिजबुल्‍लाह को ब्‍लैकलिस्‍ट करना क्षेत्रीय मामलों में दखलंदाजी

रिहाई पर रार

पाकिस्तान में इस बात को लेकर जबरदस्त रार देखने को मिल रही है। बताया जा रहा है पाकिस्तान में कुछ गुट अभिनंदन की रिहाई के विरोध में थे। जानकारों का कहना है कि इमरान खान सरकार अभिनंदन को हथियार की तरह इस्तेमाल करने के मूड में थी। लेकिन अमरीका और सऊदी अरब के दबाव के आगे पाक सरकार की एक भी नहीं चली। यह बात सामने आ रही है कि असल में भारतीय पायलट की रिहाई पर पाक सेना ने मुहर लगाई थी। अब भारतीय पायलट को पकड़ने के दो दिन बाद ही रिहा करने के खिलाफ पाकिस्तान में विरोध शुरू हो गया है। जहां कुछ लोग उनकी रिहाई का समर्थन कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग इसका विरोध भी कर रहे हैं। यहां तक कि पाक सरकार में शामिल कुछ लोगों का कहना है कि अभिनंदन का इस्तेमाल एक हथियार में रूप में हो सकता था लेकिन उन्हें आसानी से छोड़ दिया गया।

सेना ने लिया फैसला !

अभिननदन को रिहा करने का फैसला असल में सेना का था। पाक पीएम ने भारतीय विंग कमांडर की रिहाई की घोषणा जरूर की थी लेकिन उनकी रिहाई तब तक नहीं की गई जब तक कि सेना ने उस पर मुहर नहीं लगा दी। सऊदी अरब और अमरीका से पाक पर भारी दबाव था। हालांकि पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा था कि अभिनंदन की रिहाई का फैसला किसी दबाव में नहीं लिया गया। भारत के सख्त रुख से भी पाकिस्तान डरा हुआ था। पाकिस्तान को इस बात का डर था कि भारत कोई आक्रामक कदम उठा सकता है। इसी को देखते हुए पाकिस्तान सरकार ने फैसला किया कि अभिनंदन की रिहाई की जाए, लेकिन इस पर आखिरी फैसला पाक सेना ने लिया।

नाइजीरिया: तेल पाइपलाइन में विस्फोट, 50 से अधिक लोग लापता

रिहाई से पहले हुआ यह खेल

अभिनंदन की रिहाई से पहले पाक सेना ने एक बेहद सोचा समझा गेम खेला। अभिनंदन को वाघा बॉर्डर रवाना करने से पहले सेना ने एक विडियो शूट किया, जिसमें अभिनंदन से पाकिस्तान के लिए बेहद अच्छी बातें कहलवाई गईं। अभिनंदन को भारत की मीडिया के बारे में कई बातें कहने के लिए मजबूर किया गया। यह वीडियो पाक सरकार ने अपने ऑफिशियल ट्वीटर अकॉउंट पर अपलोड भी किया था। भारत सहित पूरी दुनिया में पाकिस्तान की काफी आलोचना हुई और बाद में उसे यह वीडियो हटाना पड़ा था।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

Siddharth Priyadarshi Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned