गुरु नानक की 551वीं जयंती पर भारतीय सिखों को Pakistan ने निमंत्रण भेजा

Highlights

  • ननकाना साहिब में 27 नवंबर से तीन दिनों के उत्सव की शुरुआत होने जा रही है।
  • इस साल कोविड-19 (Covid-19) के कारण इस वर्ष यह उत्सव प्रभावित हो सकता है।

By: Mohit Saxena

Updated: 19 Oct 2020, 10:25 PM IST

लाहौर। पाकिस्तान ने भारतीय सिखों को सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 551वीं जयंती पर निमंत्रण भेजा है। इसकी जानकारी सोमवार को एक अधिकारी ने दी है। ननकाना साहिब में 27 नवंबर से तीन दिनों के उत्सव गुरु नानक गुरुपर्व की शुरुआत होने जा रही है।

Nepal: कोरोना के कारण गंभीर मरीजों को इलाज कराना हुआ मुश्किल,अस्पतालों में लग रहीं लाइनें

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गुरु नानक के जन्मस्थल 'गुरुद्वारा जन्मस्थान ननकाना साहिब पर उनकी जयंती के अवसर पर प्रति वर्ष भारत और दुनिया के विभिन्न स्थानों से लाखों की संख्या में लोग एकत्र होते हैं। मगर इस साल कोविड-19 के कारण इस वर्ष यह उत्सव प्रभावित हो सकता है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार भारतीय श्रद्धालुओं को देश में प्रवेश के लिए पांच दिवसीय वीजा की पेशकश की जाएगी। कोरोना वायरस की अनिवार्य नेगेटिव रिपोर्ट पर ही प्रवेश मिलेगा। परित्यक्त वक्फ संपत्ति बोर्ड व पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (पीएसजीपीसी) ने भी उत्सव में भाग लेने के लिए विभिन्न सिख सोसायटी को आमंत्रण भेजा है।

Azerbaijan के राष्ट्रपति का दावा, अराकेज नदी पर बने पुल को तीन दशक बाद छुड़ाया

कोरोना वायरस महामारी के कारण भारत के सिखों को देश में सीमित समय के लिए ही ठहरने की इजाजत दी जाएगी। विशेष पांच दिवसीय ननकाना साहिब वीजा 2 दिसंबर को समाप्त हो जाएगा।

पाकिस्तान-भारत द्विपक्षीय समझौते के अनुसार गुरुपर्व के लिए देश में तीन हजार भारतीय सिख श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा। इस दौरान सभी श्रद्धालुओं को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। इसके साथ अनिवार्य रूप में कोविड-19 रिपोर्ट को साथ में लाना होगा।

COVID-19 COVID-19 virus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned