पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ के बारे में बड़ा खुलासा, सत्ता के लिए मांगी थी अमरीका से मदद

इस बात से शर्मिदा थे कि आईएसआई का अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन के ठिकाने का पता लगाने को लेकर उपेक्षापूर्ण रवैया रहा है

By: Mohit Saxena

Updated: 30 Dec 2018, 09:16 AM IST

नई दिल्ली। पाकिस्तान के पूर्व तानाशाह परवेज मुशर्रफ लीक हुई एक वीडियो में वह एक बार फिर से सत्ता हासिल करने के लिए गोपनीय सहयोग मांगते दिख रहे हैं। इस वीडियो ने पाक के पूर्व तानाशाह की पोल खोल दी है। वह अमरीकी सांसदों को यह बताते हुए सुनाई दे रहे हैं कि वो इस बात से शर्मिदा थे कि आईएसआई का अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन के ठिकाने का पता लगाने को लेकर उपेक्षापूर्ण रवैया रहा है। हालांकि अभी तक यह पता नहीं चल सका है कि यह वीडियो कब का है।

दुबई में शरण लेकर रह रहे मुशर्रफ

पाकिस्तान के असंतुष्ट स्तंभकार गुल बुखारी द्वारा पोस्ट की गई इस वीडियो में दुबई में शरण लिए पूर्व राष्ट्रपति ने कहा कि वो सोचते हैं कि आईएसआई की उपेक्षा माफ करने लायक थी, क्योंकि अमरीकी जांच एजेंसी सीआईए का भी 9/11 पर इसी स्तर का उपेक्षापूर्ण व्यवहार था। मुशर्रफ (75) महाभियोग से बचने के लिए इस्तीफा देने से पहले साल 2001 से 2008 तक पाकिस्तान के राष्ट्रपति थे।

मेरी पहले से विश्वसनीयता है

पूर्व सैन्य प्रमुख मुशर्रफ मार्च 2016 से दुबई में रह रहे हैं। वो सुरक्षा और स्वास्थ्य का हवाला देकर देश छोड़कर गए और तब से वापस नहीं लौटे। वो साल 2007 में संविधान का उल्लंघन करने के लिए देशद्रोह के मुकदमे का सामना कर रहे हैं। मुशर्रफ लीक हुई वीडियो में अमरीकी सांसदों से कहते सुनाई दे रहे हैं कि मैं बस यह कह रहा हूं कि मेरी पहले से विश्वसनीयता है। मुझे फिर से सत्ता में आने की जरूरत है और मेरा समर्थन मिलना चाहिए। खुल्लमखुल्ला नहीं, बल्कि गुप्त तरीके से।'इस वीडियो क्लिप में वो अमरीकी प्रतिनिधि सभा के कोरिडोर में चलते हुए दिख रहे हैं। ऐसा लगता है कि यह वीडियो क्लिप 2012 की है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

 

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned