PoK को लेकर पाकिस्तान की नई पैतरेबाजी, गिलगित-बाल्टिस्तान में जल्द कराए जाएंगे चुनाव

Highlights

  • कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान मामलों के मंत्री अली अमीन गंडापुर ने इस बात के संकेत दिए।
  • मंत्री अमीन का कहना है कि इमरान सरकार ने सभी पक्षकारों से विचार-विमर्श के बाद ये फैसला लिया है।

By: Mohit Saxena

Updated: 18 Sep 2020, 02:06 PM IST

इस्लामाबाद। पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान (Imran Khan Government) सरकार पीओके को लेकर नई पैतरेबाजी कर रह रहा है। पाक सरकार अवैध रूप से कब्जाए गिलगित-बाल्टिस्तान (Gilgit Baltistan) क्षेत्र को देश का पांचवां प्रांत बनाने तैयारी कर रहा है। इसके लिए वह यहां पर चुनाव कराने जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान मामलों के मंत्री अली अमीन गंडापुर ने बुधवार को यह बात कही है। अली अमीन का कहना है कि पीएम इमरान खान जल्द ही क्षेत्र का दौरा करने वाले है और जल्द चुनाव की घोषणा की जाएगी।

अली अमीन के अनुसार, इस क्षेत्र को नेशनल असेंबली और सीनेट हर संवैधानिक निकाय में पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिया जा रहा है। नवंबर में यहां चुनाव कराए जा सकेंगे। वहीं भारत का इस मुद्दे पर स्पष्ट रुख रहा है। उसका साफ कहना है कि गिलगित-बल्टिस्तान समेत जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का क्षेत्र उसके अंतर्गत आता है।

मंत्री अमीन का कहना है कि इमरान सरकार ने सभी पक्षकारों से विचार-विमर्श के बाद गिलगित-बाल्टिस्तान को संवैधानिक अधिकार देने पर सैद्धांतिक सहमति दी है। चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीसीई) को लेकर मोकपोंदास विशेष आर्थिक क्षेत्र पर काम शुरू हो गया है। सरकार ने वहां के लोगों से किए गए वादे को पूरा करने पर विचार किया है। अमीन के अनुसार बीते 73 वर्षों से गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों को वंचित रहना पड़ा है। क्षेत्र में मतदान नवंबर के मध्य में होगा। उम्मीदवारों को पार्टी टिकट बांटे जाएंगे। उन्होंने कहा कि इमरान की पार्टी पीटीआई किसी भी स्थानीय सरकार से गठबंधन कर सकती है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned