सुप्रीम कोर्ट से मुशर्रफ की बढ़ी मुश्किलें, चुनाव में खड़े होने की सशर्त अनुमति ली वापस

सुप्रीम कोर्ट से मुशर्रफ की बढ़ी मुश्किलें, चुनाव में खड़े होने की सशर्त अनुमति ली वापस

prashant jha | Publish: Jun, 14 2018 05:47:10 PM (IST) एशिया

इससे पहले 13 जून को परवेज मुशर्रफ को सुप्रीम कोर्ट में पेश होना था। लेकिन सुरक्षा कारणों ने वह पेश नहीं हुए। जिसके बाद पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट उन्हें गुरुवार तक देश लौटने का आदेश दिया था।

लाहौर: पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने गुरुवार को पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को आगामी आम चुनाव में खड़े होने की सशर्त अनुमति वापस ले ली। मुशर्रफ के वकील ने गुरुवार को सूचित किया था कि पूर्व सैन्य प्रमुख देश लौटने में सक्षम नहीं है, जिसके बाद अदालत ने यह अनुमति वापस ले ली। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, सर्वोच्च न्यायालय के चार सदस्यीय पीठ ने मुशर्रफ की वापसी से संबंधित मामले पर सुनवाई की। उन्होंने देश लौटने के लिए और अधिक समय देने का अनुरोध किया है। हालांकि अदालत ने 13 जून तक एक दिन की मोहलत देने के बाद उनके अनुरोध को खारिज कर दिया।

कोर्ट ने गुरुवार को पेश होने को कहा था

इससे पहले बुधवार को परवेज मुशर्रफ को सुप्रीम कोर्ट में पेश होना था। लेकिन सुरक्षा कारणों ने वह पेश नहीं हुए। जिसके बाद पाकिस्तान के सर्वोच्च न्यायालय ने पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को गुरुवार तक देश लौटने का आदेश दिया । अदालत ने मुशर्रफ की लगातार अनुपस्थिति को लेकर फटकार के तौर पर यह आदेश दिया है। प्रधान न्यायाधीश साकिब निसार ने चेतावनी दी है कि यदि वह अदालत में अपराह्न् दो बजे तक पेश नहीं होते हैं तो उनकी गैरहाजिरी में उनके चुनाव लड़ने की योग्यता पर फैसला लिया जाएगा।

सुरक्षा कारणों से देश नहीं लौट रहे मुशर्रफ

परवेज मुशर्रफ के वकील ने 2013 के आम चुनाव में उनके नामांकन पत्रों को अस्वीकार करने के खिलाफ 2015 में पूर्व राष्ट्रपति द्वारा दायर एक मामले की सुनवाई के दौरान पीठ को बताया, "मुशर्रफ देश लौटना चाहते हैं लेकिन ईद उल फितर की छुट्टियों और वर्तमान हालात को देखते हुए वह ऐसा नहीं कर पा रहे हैं।" प्रधान न्यायाधीश मियां साकिब निसार ने जवाब में कहा, "हम अनिश्चितकाल के लिए अदालत को स्थगित कर रहे हैं। आपकी इच्छा पर अगली सुनवाई की जाएगी। मुशर्रफ की अखिल पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एपीएमएल) के महासचिव ने कहा कि पूर्व सेना प्रमुख की कानूनी टीम समय-सीमा में विस्तार के लिए आवेदन करेगी। मोहम्मद अमजद चौधरी ने एक समाचार एजेंसी को बताया, "हम उन्हें ईद-उल-फितर के बाद की तारीख निर्धारित करने का अनुरोध करेंगे। अगर वे सहमत होते हैं, तो मुशर्रफ वापस आ जाएंगे।"

Ad Block is Banned