HIV संक्रमण से ग्रसित पूरा पाकिस्तान! एड्स संक्रमित लोगों की संख्या 16,5000 तक पहुंची

  • इस साल पाकिस्तान में एचआईवी संक्रमित 9,565 नए मामले दर्ज किए गए हैं
  • साल 2000 के दौरान रोगियों की अनुमानित संख्या सिर्फ 500 थी, जो बढ़कर 160,000 से अधिक हो गई

Anil Kumar

December, 1011:05 PM

इस्लामाबाद। आर्थिक बदहाली से गुजर रहे पाकिस्तान में स्वास्थ्य सेवाओं की भी स्थिति बहुत ही लचर है। यही कारण है कि एड्स जैसे गंभीर रोग के मामले बढ़ते जा रहे हैं।

पाकिस्तान में एचआईवी/एड्स के रोगियों की संख्या वर्तमान में 165,000 है। राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम (NACP) ने जानकारी देते हुए बताया है कि इस साल पाकिस्तान में एचआईवी संक्रमित 9,565 नए मामले दर्ज किए गए हैं।

विश्व में 40 लाख एड्स पीडि़त, एड्स के फैलने के कारण व बचाव के कारणों पर हुई चर्चा

'द एक्सप्रेस ट्रिब्यून' ने सोमवार को एनएसीपी के आंकड़ों के हवाले से बताया कि केवल 36,902 लोग एनएसीपी के साथ पंजीकृत हैं, जिनमें से लगभग 20,994 का इलाज चल रहा है। संक्रामक सिरिंज से इंजेक्शन लेने के बाद 6,426 लोग इस बीमारी के संपर्क में आ गए।

राटो डेरो में सबसे अधिक 895 मामले दर्ज

एनएसीपी के रिकॉर्ड के मुताबिक, 546 बालकों और 426 बालिकाओं सहित 18,220 पुरुष और 4,170 महिला मरीज एनएसीपी में पंजीकृत हैं। इस साल सिर्फ सिंध के लरकाना शहर में एक छोटे-से क्षेत्र, राटो डेरो में ही एड्स के 895 मामले दर्ज किए गए। जिनमें से 754 बच्चे और 141 वयस्क हैं।

अप्रैल से 30 नवंबर तक लगभग 37,558 लोगों ने लरकाना में एचआईवी जांच कराई थी, जिसमें से 1,195 में संक्रामक जर्म्स की संदिग्ध उपस्थिति पाई गई। एनएसीपी डेटा के मुताबिक, 2018 के अंत में पंजीकृत एड्स प्रभावित रोगियों की संख्या 23,757 थी, जिनमें से 15,821 का इलाज चल रहा है।

बीते दो दशकों में खतरनाक रूप से पाकिस्तान में बढ़े हैं एड्स के मामले: UN

दूसरी ओर, संयुक्त राष्ट्र एड्स नियंत्रण कार्यक्रम द्वारा पिछले साल जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार, पिछले दो दशकों में पाकिस्तान में एड्स रोगियों की संख्या में खतरनाक रूप से वृद्धि हुई है।

साल 2000 के दौरान रोगियों की अनुमानित संख्या सिर्फ 500 थी, जो बढ़कर 160,000 से अधिक हो गई। 2000 तक बीमारी से होने वाली मौतों की कुल संख्या केवल 100 थी, जो 2018 में 6,400 तक पहुंच गई।

चीन: इस साल 23 करोड़ लोगों की हुई एड्स जांच, सामने आए चौंकानेवाले मामले

वर्ष 2000 में, पाकिस्तान में एड्स के लिए पंजीकृत रोगियों की संख्या 200 थी, जो 2018 में बढ़कर 22,000 हो गई।रिपोर्ट के अनुसार, एड्स के 14 प्रतिशत रोगियों को इस बीमारी के बारे में पता है, लेकिन 10 प्रतिशत रोगियों का स्व-उपचार किया जा रहा है। 160,000 रोगियों में से 48,000 से अधिक महिलाएं थीं।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर. विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर.

Show More
Anil Kumar Content Writing
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned