America के सामने गिड़गिड़ाया Pakistan, कहा- India के साथ तनाव कम करने में करें मदद

HIGHLIGHTS

  • पाकिस्तान ( Pakistan ) के विदेश सचिव सोहेल महमूद ( Foreign Secretary Sohail Mehmood ) ने यूएस अंडर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर पॉलिटिकल अफेयर्स डेविड हेल ( David Hale ) के साथ वर्चुअल संवाद के दौरान कहा कि भारत के साथ तनाम कम करने को लेकर अमरीका दखल दे।
  • सोहेल महमूद ने डेविड हेल से कहा कि भारत लगातार जम्मू-कश्मीर ( Jammu And Kashmir ) में सैन्य घेराबंदी बढ़ाता जा रहा है, जो कि पाकिस्तान के खिलाफ उसकी आक्रामक मुद्रा शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है।

By: Anil Kumar

Updated: 12 Aug 2020, 08:11 PM IST

नई दिल्ली। आतंकवाद ( Terrorist ) और सीमा विवाद ( Border Dispute ) को लेकर लगातार भारत के खिलाफ प्रोपेगैंडा करने वाले पाकिस्तान की कलई एक बार फिर से खुल गई है और असली चेहरा सबके सामने आ गया है। भारत के खिलाफ षड़यंत्र करने और आतंकी हमलों को अंजाम देने वाले पाकिस्तान ( Pakistan ) ने अमरीका ( America ) के सामने गिड़गिड़ाना शुरू कर दिया है। पाकिस्तान ने अमरीका से कहा कि भारत के साथ संबंधों को बहाल करने और तनाव कम करने में मदद करें।

दरअसल, पाकिस्तान के विदेश सचिव सोहेल महमूद ( Pakistan Foreign Secretary Sohail Mehmood ) ने यूएस अंडर सेक्रेटरी ऑफ स्टेट फॉर पॉलिटिकल अफेयर्स डेविड हेल के साथ वर्चुअल संवाद के दौरान कहा कि भारत के साथ तनाम कम करने को लेकर अमरीका दखल दे।

पाकिस्तान: विदेश मंत्री कुरैशी की भारत को गीदड़ भभकी, कहा- हमारी शांति की इच्छा को कमजोरी न समझे भारत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दोनों के बीच बातचीत के दौरान महमूद ने कहा कि तनाव को रोकने और जम्मू-कश्मीर विवाद के शांतिपूर्ण समाधान की सुविधा के लिए कदम उठाना अनिवार्य था।'

पाकिस्तान पहले भी कर चुका है मध्यस्थता की अपील

पाक विदेश सचिव सोहेल महमूद ने डेविड हेल से कहा कि भारत लगातार जम्मू-कश्मीर ( Jammu And Kashmir ) में सैन्य घेराबंदी बढ़ाता जा रहा है, जो कि पाकिस्तान के खिलाफ उसकी आक्रामक मुद्रा शांति और सुरक्षा के लिए खतरा है। उन्होंने भारत पर कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन ( Human Rights Violation ) करने का आरोप लगाया है। इसके अलावा संघर्ष विराम का लगातार उल्लंघन करने और क्षेत्र के डेमोग्राफिक (जनसांख्यिकीय) ढांचे को बदलने की कोशिश करने का भी आरोप लगाया है।

बता दें कि पाकिस्तान इससे पहले भी अमरीका से मध्यस्थता को लेकर गुहार लगा चुका है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने अमरीका दौरे में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ( President Donald Trump ) से कश्मीर मामले पर मध्यस्थता करने की अपील की थी। इसको लेकर ट्रंप ने भारत के सामने एक प्रस्ताव भी रखा था, लेकिन भारत ने सीधे-सीधे इसे ठुकराते हुए साफ कर दिया था कि कश्मीर का मुद्दा भारत का आंतरिक मामला है।

भारत के खिलाफ झूठ फैलाने में जुटा PAK, विदेश मंत्री कुरैशी ने कहा- इंडिया कर सकता है 'फॉल्स फ्लेग ऑपरेशन'

गौरतलब है कि बीते साल 5 अगस्त को भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को समाप्त कर दिया था। इसके अलावा जम्मू-कश्मीर और लद्दाख ( Jammu-Kashmir and Ladakh ) को केंद्र शासित प्रदेश घोषित कर दिया था। इसके बाद से पाकिस्तान बौखला गया और पूरी दुनिया में भारत को बदनाम करने की कोशिश में जुट गया लेकिन दुनियाभर में पाकिस्तान को मुंह खानी पड़ी है।

Show More
Anil Kumar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned