पाकिस्तान में सीवर सफाई कर्मियों की भर्ती के लिए मांगा आवेदन, सिर्फ ईसाई होंगे पात्र

Highlights

  • इन्हें बिना किसी मास्क और उपकरण के नालों उतारा जाता है।
  • इन सफाई कर्मियों को मामूली मेहनताना दिया जाता है।

By: Mohit Saxena

Updated: 06 May 2020, 10:32 AM IST

लाहौर। पाकिस्तान (Pakistan) में धार्मिक स्वतंत्रता में पर अंकुश लगा हुआ है। यहां पर अल्पसंख्याकों को तरह-तरह की यातनाएं दी जा रही हैं। पाकिस्तान में ईसाई वर्ग पर अत्याचार किया जा रहा है। यहां पर उनसे साफ-सफाई और सीवर को साफ कराया जा रहा है। उन्हें इस दौरान न मास्क (Mask) दिया जाता है और न ही कोई सुरक्षा उपकरण मिलता है। इनकी भर्तियां सिर्फ सफाई के कामों में लगाई जा रही है।

बीजिंग में कोरोना वायरस के 16 मामले सामने आए, नए मामलों में संक्रमण के लक्षण नहीं दिखे

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान में एक विज्ञापन में नाले की सफाई के लिए सफाईकर्मियों की बहाली की बात कही गई थी। इसमें केवल ईसाईयों को ही आवेदन के लिए कहा गया था। पाकिस्तान के कराची जैसे बड़े शहरों की नगरपालिका में भी ईसाईयों से ही सफाई के काम कराए जाते हैं। उन्हें गन्दी नालियों में उतरना होता है। इन्हें बिना किसी उपकरण के नालों उतारा जाता है। कचरा साफ करने के लिए उन्हें मामूली मेहनताना दिया जाता है। इस दौरान कई लोग हादसे का भी शिकार होते हैं।

एक मीडिया रिपोर्ट में COVID—19 महामारी के बीच पाकिस्तान में अल्पसंख्यक समुदाय के प्रति पाकिस्तान के अत्याचारों को उजागर किया गया है। अंतरर्राष्ट्रीय धार्मिक स्वतंत्रता पर अमरीकी आयोग (USCIRF) ने हाल ही में देश में कोरोनो वायरस प्रकोप के बीच "पाकिस्तान में अल्पसंख्यक हिंदुओं और ईसाइयों को खाद्य सहायता से वंचित होने" की परेशान करने वाली रिपोर्ट पर प्रकाश डाला। इस रिपोर्ट में बताया गया था कि खाद्य सामग्री बांटने में भी धर्म का आधार लिया जा रहा है। यहां पर अल्पसंख्यकों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

अपनी 2019 की वार्षिक रिपोर्ट में, USCIRF ने उल्लेख किया था कि पाकिस्तान में हिंदू, ईसाई और अन्य अल्पसंख्यक धर्म अपने को असुरक्षित मान रहा है। यहां उत्पीड़न और सामाजिक बहिष्कार के विभिन्न रूप देखने को मिल रहे हैं। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के प्रति क्रूरता और अत्याचारों को लेकर यहां की सरकार ने मुंह बंद कर रखा है।

Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned