पाकिस्तान के इस मंदिर में स्थापित है 17 लाख साल पुरानी पंचमुखी हनुमान जी की मूर्ति! हर मनोकामना होती हैं पूरी

करीब 17 लाख वर्ष पुरानी इस ऐतिहासिक मंदिर में हनुमानजी के दर्शन के लिए सुबह से शाम तक भक्‍तों की भीड़ लगी रहती है...

किसी भी देश की सीमाएं बदल जाने या बंटवारा हो जाने से इतिहास नहीं बदला करते और ऐसे इतिहास तो बिलकुल भी नहीं जिनका अस्तित्व लाखों साल पुराना हो। पाकिस्तान के शहर कराची के पंचमुखी हनुमान मंदिर पर पर भी यह बात लागू होती है। पाकिस्तान के कराची में जहां पंचमुखी हनुमानजी का मंदिर है। शास्त्रों के अनुसार इस मंदिर में भगवान श्रीराम आ चुके हैं। मंदिर में उपस्थित पंचमुखी हनुमानजी की मूर्ति कोई साधारण मूर्ति नहीं है क्योंकि इस मूर्ति का इतिहास 17 लाख साल पुरानी त्रेता युग से है।
Image result for पंचमुखी हनुमान मंदिर
करीब 17 लाख वर्ष पुरानी इस ऐतिहासिक मंदिर में हनुमानजी के दर्शन के लिए सुबह से शाम तक भक्‍तों की भीड़ लगी रहती है। इस ऐतिहासिक पंचमुखी मंदिर का पुर्ननिर्माण निर्माण 1882 में हुआ था।

Image result for पंचमुखी हनुमान मंदिर
कराची शहर पाकिस्तान का सबसे बड़ा नगर है और इसे सिन्ध प्रान्त की राजधानी भी कहा जाता है। यह अरब सागर के तट पर बसा है और पाकिस्तान का सबसे बड़ा बन्दरगाह भी है। कराची स्थित पंचमुखी मंदिर में हनुमानजी के दर्शन के लिए भारत से भी काफी संख्या में भक्त जाते हैं।

Related image
कहा तो यहाँ तक जाता रहा है कि पंचमुखी हनुमान जी की यह प्रतिमा जमीन के अंदर से प्रकट हुई थी। पुजारी के अनुसार मंदिर में सिर्फ 11 या 21 परिक्रमा लगाने से सारी मनोकामना पूरी हो जाती है। यहाँ आकर लाखों लोग अपने दुखों से निजात पा चुके हैं।
राहुल
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned