पीएलए का बयान: विदेशों में अधिक चीनी सैनिक अड्डे के निर्माण की संभावना

पीएलए का बयान: विदेशों में अधिक चीनी सैनिक अड्डे के निर्माण की संभावना

Shweta Singh | Publish: Jan, 10 2019 08:33:09 PM (IST) | Updated: Jan, 10 2019 08:33:10 PM (IST) एशिया

चीन का विदेश में सिर्फ एक सैनिक अड्डा है, जोकि हॉर्न ऑफ अफ्रीका के जिबूती में स्थित है।

बीजिंग। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा जा रहा है कि चीन जरूरत पड़ने पर विदेशों में अधिक सैन्य अड्डे बना सकता है। इस संबंध में गुरुवार को चीनी सेना पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी (पीएलए) के एक वरिष्ठ अधिकारी का बयान मीडिया की एक रिपोर्ट में आया है। समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, पीएलए के एकेडमी ऑफ मिलिटरी साइंसेज के पूर्व वाइस प्रेसिडेंट लेफ्टिनेंट जनरल ही ली ने एक प्रेसवार्ता में बुधवार को यहां कहा कि चीन दो शर्तो पर नए अड्डे बनाएगा।

अभियान को पूरा करने के लिए नए अड्डे की जरूरत

एक चीनी अखबार ने उनके उस बयान को प्रकाशित किया जिसमें उन्होंने कहा, 'इसका निर्धारण मुख्य रूप से इस आधार पर किया जाएगा कि क्या चीन को संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रदत्त अभियान को पूरा करने के लिए नए अड्डे की जरूरत है। दूसरा, यह राष्ट्र की मंजूरी पर निर्भर करेगा कि कहां अड्डे की जरूरत है।' उन्होंने कहा, 'यह संभव है कि चीन विदेशों में मदद के लिए नए अड्डे बना सकता है।'

फिलहाल सिर्फ अफ्रीका में है चीन कै सैन्य अड्डा

अखबार में उनके बयान में कहा कि इसका मुख्य मकसद पीएलए की इकाई को विदेशों में लॉजिस्टिक सपोर्ट प्रदान करना है, न कि दूसरे देशों में चीनी सैन्य बल को स्थापित करना है। फिलहाल चीन का विदेश में सिर्फ एक सैनिक अड्डा है, जोकि हॉर्न ऑफ अफ्रीका के जिबूती में स्थित है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned