रूसी कार्यकर्ता हुआ संदिग्ध जहर का शिकार, इलाज के लिए बर्लिन रवाना

रूसी कार्यकर्ता हुआ संदिग्ध जहर का शिकार, इलाज के लिए बर्लिन रवाना

Shweta Singh | Publish: Sep, 16 2018 02:42:08 PM (IST) एशिया

मीडिया रिपोर्ट में रविवार को बताया कि पीड़ित पियोटर वर्जिलोव मंगलवार को अदालत में सुनवाई के बाद कथित रूप से बीमार पड़ गए और उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

मॉस्को। रूस के विद्रोही समूह 'पुसी रायट' के एक सदस्य को मॉस्को में संदिग्ध रूप से जहर दिए जाने का मामला सामने आया है। हालत बिगड़ने के बाद उसे इलाज के लिए बर्लिन रवाना किया गया। मीडिया रिपोर्ट में रविवार को बताया कि पीड़ित पियोटर वर्जिलोव मंगलवार को अदालत में सुनवाई के बाद कथित रूप से बीमार पड़ गए और उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया। पियोटर फीफा विश्व कप के फाइनल मैच में पिच पर दौड़ने वाले चार लोगों में से एक थे।

'सिनेमा फॉर पीस फाउंडेशन' ने की जर्मनी जाने की

जानकारी के मुताबिक इस संदिग्ध जहर की वजह से उन्हें देखने और बोलने में परेशानी हो रही है। 'सिनेमा फॉर पीस फाउंडेशन' ने कथित तौर पर उनके जर्मनी जाने की व्यवस्था की। कहा जा रहा है कि 'पुसी रायट' की साथी सदस्य व उनकी पूर्व पत्नी नाडया टोलोकोनिकोवा भी हवाईअड्डे पर मौजूद थीं।

ये भी पढ़ें:- हिंदू राष्ट्रवाद से भारत की धर्मनिरपेक्षता को खतरा, खास समुदाय के लोग बन रहे हैं निशाना- रिपोर्ट

15 जुलाई को मैच के दौरान जबरन पिच पर घुसने का मामला

जर्मन समाचार पत्र 'बिल्ड' द्वारा साझा किए गए एक शॉर्ट वीडियो और तस्वीरों में वर्जिलोव को स्ट्रैक्चर पर विमान में ले जाते देखा जा सकता है। वर्जिलोव समूह के उन चार poisenedसदस्यों में से एक थे जो 15 जुलाई को फीफा विश्व कप के दौरान फ्रांस और क्रोएशिया के बीच मैच के दौरान जबरन पिच पर पहुंच गए थे। मीडिया रिपोर्ट में ये भी कहा गया कि पुलिस द्वारा कैदियों को पूछताछ के दौरान प्रताड़ित किए जाने की खबरों के बाद रूसी पुलिस की क्रूरता के विरोध में उन्होंने ऐसा किया था।

ये भी पढ़ें:- अमरीका: बॉर्डर पेट्रोल एजेंट पर चार महिलाओं की हत्या का आरोप, टेक्सास पुलिस ने किया गिरफ्तार

ये भी पढ़ें:- भारत आने से बच रहे हैं अमरीकी पर्यटक, संख्या में 7 फीसदी की कमी

Ad Block is Banned