Nepal: ओली से दहल ने मांगा इस्तीफा, कहा- कुर्सी बचाने के लिए पीएम सेना का ले रहे सहारा

Highlights

  • वरिष्ठ नेता पुष्प कमल दहल (Pushpa Kamal Dahal) ने दो टूक कहा कि इस्तीफे की मांग भारत नहीं बल्कि पार्टी कर रही है।
  • पीएम केपी ओली (Kp Oli) का दावा है कि काठमांडू के एक होटल में उन्हें हटाने के लिए बैठकें रखी गई थीं।

By: Mohit Saxena

Updated: 30 Jun 2020, 09:08 PM IST

काठमांडू। नेपाल (Nepal) की सरकार पर खतरे के बादल मंडरा रहे हैं। पीएम केपी ओली (Kp Oli) को लेकर पार्टी में ही विरोध की लहर देखने को मिल रही है। पार्टी की मंगलवार को हुई बैठक में एक बार फिर से सीनियर नेताओं ने ओली के इस्तीफे की मांग कर डाली है। नेताओं का कहना है कि ओली की सरकार अपने काम में पूरी तरह से विफल साबित हुई है। ऐसे में उनसे इस्तीफे की मांग की जा रही है। इसके साथ ओली के उस आरोप को नकारा गया, जिसमें वे इसके पीछे भारत का हाथ बता रहे हैं।

'हम मांग रहे इस्तीफा, भारत नहीं'

कम्युनिस्ट पार्टी के वरिष्ठ नेताओं में पुष्प कमल दहल(Pushpa Kamal Dahal),माधव नेपाल, झला नाथ खनल और बामदेव गौतम ने पार्टी की बैठक में पीएम ओली से इस्तीफे की मांग की है। उनका कहना है कि सरकार की विफलताओं को देखकर इस मांग को सामने रखा गया है। दहल ने ओली के बयान पर हैरानी जताते हुए कहा कि पार्टी पीएम का इस्तीफा मांग रही है न की भारत।

ओली का आरोप, रची जा रहीं साजिशें

गौरतलब है कि पीएम ओली का आरोप है कि भारत के इशारे पर उनसे इस्तीफे की पेशकश की गई है। पीएम ओली का दावा है कि काठमांडू के एक होटल में उन्हें हटाने के लिए बैठकें रखी गई थीं। इसमें एक दूतावास भी सक्रिय है। उन्होंने कहा कि भारतीय जमीन को नेपाली नक्शे में दिखाने वाले संविधान संशोधन के बाद से उनके खिलाफ साजिशें की जा रही हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि उन्हें पद से हटाने को लेकर कोशिशें जारी हैं। नेपाल की राष्ट्रीयता कमजोर नहीं है।

कुर्सी बचाने के लिए नेपाली सेना का सहरा

उधर, प्रचंड का कहना है कि पीएम ओली अपनी कुर्सी बचाने के लिए किसी भी हद तक जा सकते हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि ओली पीएम पद के लिए नेपाली सेना का सहारा ले रहे हैं। उन्होंने मीडिया से कहा कि हमने सुना है कि पीएम ओली सत्ता में बने रहने के लिए पाकिस्तान, अफगानी या बांग्लादेशी मॉडल को अपनाने की कोशिश में लगे हैं। इस तरह के प्रयास नेपाल में सफल नहीं होने वाले।

Show More
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned