'मिशन शक्ति': भारत को रूस का समर्थन, कहा- हथियारों की होड़ रोकने के लिए साझा कोशिशों की जरूरत

  • अंतरराष्ट्रीय कानून को बेहतर बनाने की जरूरत
  • मिसाइल की मदद से अपने ही उपग्रह को मार गिराया
  • किसी देश के उपग्रह को मार गिराने में सक्षम भारत

By: Mohit Saxena

Updated: 30 Mar 2019, 11:25 AM IST

नई दिल्ली। रूस ने भारत के एंटी-सैटेलाइट मिसाइल टेस्ट को लेकर उसके प्रयासों की सराहाना की है। वहीं दूसरी तरफ अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ को लेकर चिंता भी व्यक्त की है। रूस के अनुसार उसने कई बार अमरीका से कहा है कि इस विषय में अंतरराष्ट्रीय कानून को बेहतर बनाने की जरूरत है। रूस के विदेश मंत्रालय के अनुसार, इसके लिए सभी को मिलकर कुछ ऐसे कदम उठाने होंगे ताकि हमारा अंतरिक्ष शांतिपूर्ण रह सके

 

 

किसी देश के उपग्रह को मार गिराने में सक्षम होगा

गौरतलब है कि 27 मार्च को भारत द्वारा किए गए एंटी-सैटेलाइट मिसाइल के परीक्षण ने पूरी दुनिया में संदेश दिया कि वह भी अंतरिक्ष में अपनी ताकत को आजमा सकता है। भारत ने एंटी सैटेलाइट मिसाइल की मदद से अपने ही उपग्रह को मार गिराया। इस तकनीक की मदद से वह किसी भी देश के उपग्रह को मार गिराने में सक्षम होगा। रूस का कहना है कि अंतरिक्ष में हथियारों की होड़ को रोकने के लिए कई प्रभावी नियमों को बनाने की आवश्यकता है। इसके लिए भारत को भी साथ आने की जरूरत है। हर देश मिलकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इन हथियारों पर रोक लगाने की कोशिश कर सकता है।

Read the Latest World News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले World News in Hindi पत्रिका डॉट कॉम पर.

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned