भारत से आयात बंद, Pakistan में सांप के जहर को बेअसर करने वाले टीके की किल्लत

Highlights

  • भारत से 2.65 अरब रुपए के एंटी-रेबीज (Anti Rabiz) के टीके और सांप के जहर का इलाज करने वाले टीकों का आयात किया गया था।
  • पाकिस्तान (Pakistan) के स्वास्थ्य मंत्री तैमूर सलीम झागरा ने जताई चिंता, अस्पतालों में दवा की कमी।

By: Mohit Saxena

Updated: 08 Aug 2020, 08:24 PM IST

पेशावार। भारत से आयात (Import) बंद होने की वजह से पाकिस्तान (Pakistan) में सांप के जहर (Poision) को बेअसर करने वाले टीकों (Vaccine) की कमी हो गई है। शुक्रवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के स्वास्थ्य मंत्री तैमूर सलीम झागरा ने प्रांतीय विधानसभा में यह जानकारी दी। जमात-ए-इस्लामी की विधायक हुमैरा खातून ने भी बताया कि अस्पतालों में सांप के जहर के इलाज वाले टीके की किल्लत हो गई है।

इसके जवाब में पाकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्री तैमूर सलीम झागरा ने कहा कि हम भारत से ये टीके आयात करते हैं। इन दिनों भारत से तनाव के कारण इनका आयात बंद हो गया है। पाकिस्तान ने बीते साल जुलाई तक 16 माह के दौरान भारत से 2.65 अरब रुपए के एंटी-रेबीज के टीके और सांप के जहर का इलाज करने वाले टीकों का आयात किया था।

पाकिस्तान ने खरीदी 2.53 बिलियन रुपये की दवा

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार,पाकिस्तान में पर्याप्त मात्रा में टीके न बनने के कारण बीते 16 महीनों में भारत से करीब 2.53 बिलियन रुपये के अधिक के रेबीजरोधी और विषरोधी टीकों का आयात किया गया है। इसे लेकर पाकिस्तान के सांसद रहमान मलिक ने भारत से खरीदी जा रही दवाओं की मात्रा और इनके मूल्य के बारे में सवाल किया था।

दरअसल, पाकिस्तान में कुत्ते काटने और सांप के डसने की शिकायतें बड़े पैमाने पर सामने आ रही हैं। ऐसे में पाकिस्तान में इन दवाओं की किल्लत हो रही है। अगर ज्यादा दिनों तक ऐसा चलता रहा तो पाकिस्तान में इन कारणों से मौत होने वालों की संख्या में भारी इजाफा हो सकता है।

Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned