दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने की किम जोंग से मुलाकात, पहले दौर की वार्ता में द्विपक्षीय संबंधों पर हुई चर्चा

मून-जे-इन और किम जोंग के बीच मंगलवार को पहले दौर की वार्ता हुई। इस बैठक में द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा हुई।

By:

Published: 18 Sep 2018, 06:53 PM IST

प्योंगयांगः दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून-जे-इन और उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग-उन ने मंगलवार को यहां एक ऐतिहासिक सम्मेलन में पहले दौर की वार्ता की। बैठक में किम और मून ने संबंधों को मजबूत बनाना जारी रखने और प्रायद्वीप को परमाणुमुक्त बनाने पर कार्य करने के लिए नए शिखर सम्मेलन पर सहमति जताई है। मून-किम के बीच तीसरी बैठक 'सेंट्रल कमेटी ऑफ द वर्कर्स पार्टी ऑफ कोरिया पार्टी' के मुख्यालय में हुई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मून तीन दिवसीय दौरे पर मंगलवार को प्योंगयांग पहुंचे। उत्तर कोरियाई राजधानी का दौरा करने वाले इतिहास में वह तीसरे दक्षिण कोरियाई नेता हैं।

बुधवार को फिर मिलेंगे किम-मून
दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून और उत्तर कोरिया के नेता किम बुधवार को दूसरे दौर की वार्ता के लिए मिलेंगे। वार्ता का मुख्य मकसद कोरियाई प्रायद्वीप को परमाणु मुक्त करने को लेकर अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच फिर से संवाद शुरू करना है। एजेंडा में दोनों देशों के बीच सैन्य तनाव कम करना और द्विपक्षीय संबंधों में सुधार लाना भी है, जिसके बारे में मून ने कहा कि इससे उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण प्रक्रिया को मदद मिलेगी।

ये भी पढ़ेंः ट्रंप के उत्तर कोरिया पर तंज के लिए चीन ने अमेरिका को दिखाई आंखें

तीसरी बार मिले किम-मून
मई 2017 में मून के पद संभालने के बाद से मून और किम की यह तीसरी मुलाकात है। दोनों इससे पहले इस साल 27 अप्रैल और 26 मई को भी सीमावर्ती गांव पनमुनजोम में मिल चुके हैं। इससे पहले उत्तर कोरिया के सीमावर्ती गांव पनमुनजोम में उच्चस्तरीय वार्ता के बाद दोनों देशों में यह सहमति बनी थी कि सितंबर महीने में किम जोंग की मुलाकात मून जे इन से होगी। बैठक के बाद दोनों कोरियाई देशों की तरफ से जारी एक संयुक्त प्रेस व्यक्तव्य में कहा गया था कि "हमारे बीच प्योंगयांग में सितंबर में अंतर-कोरियाई सम्मेलन आयोजित करने पर सहमत बनी है।"

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned