scriptA plant of every constellation in astrology which gives you relief | Jyotish Shastra: किसी भी तरह की परेशानी से मुक्ति के लिए लगाएं जन्म नक्षत्र का वृक्ष | Patrika News

Jyotish Shastra: किसी भी तरह की परेशानी से मुक्ति के लिए लगाएं जन्म नक्षत्र का वृक्ष

कोई ग्रह परेशान कर रहा हो तो उसके कुप्रभाव से बचने के लिए उन ग्रहों से संबंधित पेड़-पौधें की पूजा करें और जल दें

Updated: April 04, 2022 03:47:57 pm

Jyotish ShaStra: ज्योतिष के अनुसार 9 ग्रहों का प्रभाव प्रत्येक मानव ,जीव और पेड़ पौधों पर पड़ता है। हर ग्रह का एक नक्षत्र होता है और हर नक्षत्र का एक वृक्ष होता है। नक्षत्रों के माध्यम से भी ग्रहों के बुरे प्रभाव को सही किया जा सकता है।

A plant of every constellation in astrology
A plant of every constellation in astrology

ज्योतिष के जानकार पंडित एके शुक्ला के अनुसार दरअसल हर एक नक्षत्र का एक पेड़ होता है और जिस नक्षत्र में आपका जन्म हुआ होता है, उस नक्षत्र का पेड़ आपका आराध्य वृक्ष है। इसकी शक्ति भी रत्न के समान होती है।

ऐसे में अपने आराध्य वृक्ष को जानने के पश्चात कभी भी न तो उसे तोड़े और न ही उसको किसी भी प्रकार का नुकसान होने दें। उचित तो यह होता है कि उसकी पूजा करें और उसके अन्य वृक्ष भी लगाएं। जिससे आपके जीवन में न केवल खुशहाली आएगी बल्कि ऐसा करने से आपके जो कार्य रूक या अटक रहे थे वे भी आसानी से पूर्ण हो जाएंगे।

पंडित शुक्ला के अनुसार ज्योतिष में यह माना जाता है कि कोई भी व्यक्ति अपने नक्षत्र के अनुसार वृक्ष की पूजा करके अपने नक्षत्र को अपने लिए सकारात्मक बना सकता है। वहीं यदि जन्म नक्षत्र या गोचर के दौरान कोई नक्षत्र पीड़ित हो तब भी उस नक्षत्र से संबंधित वृक्ष की पूजा करके उसे पीड़ा से राहत दिलाई जा सकती है।

ज्योतिषशास्त्र के अनुसार ये वृक्ष अपने नक्षत्र, राशि या ग्रहों का प्रतिनिधित्व करते हैं। इस वृक्षों पर नक्षत्र व ग्रहों का प्रभाव रहता है, इसलिए यदि आप जन्म नक्षत्र के अनुसार पौधे लगाते हैं, तो ये आपके लिए अत्यधिक फलदायक साबित होते हैं। तो आइए जानते हैं आपके जन्म नक्षत्र के अनुसार कौन सा वृक्ष लगाना फायदेमंद है।

सत्ताईस नक्षत्र और उनसे जुड़े वृक्ष, ऐसे समझें-

1 अश्विनी नक्षत्र का वृक्ष : कोचिला वृक्ष / केला, आक, धतूरा।

2 भरणी नक्षत्र का वृक्ष : आंवला ।

3 कृत्तिका नक्षत्र का वृक्ष : गुड़हल / गूलर ।

4 रोहिणी नक्षत्र का वृक्ष : जामुन ।

5 मृगशिरा नक्षत्र का वृक्ष : खैर।

6 आर्द्रा नक्षत्र का वृक्ष : आम, बेल / शीशम ।

7 पुनर्वसु नक्षत्र का वृक्ष: बांस ।

8 पुष्य नक्षत्र का वृक्ष : पीपल ।

9 आश्लेषा नक्षत्र का वृक्ष : नाग केसर और चंदन।

10 मघा नक्षत्र का वृक्ष : बड़ / वट।

11 पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र का वृक्ष : ढाक / पलाश।

12 उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र का वृक्ष : बड़ और पाकड़।

13 हस्त नक्षत्र का वृक्ष : रीठा।

14 चित्रा नक्षत्र का वृक्ष : बेल।

15 स्वाति नक्षत्र का वृक्ष : अर्जुन।

16 विशाखा नक्षत्र का वृक्ष : नीम / कटैया।

17 अनुराधा नक्षत्र का वृक्ष : मौलसिरी / भालसरी।

18 ज्येष्ठा नक्षत्र का वृक्ष : रीठा / चीर ।

19 मूल नक्षत्र का वृक्ष : राल / शाल।

20 पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र का वृक्ष : मौलसिरी/जामुन / अशोक।

21 उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का वृक्ष : कटहल।

22 श्रवण नक्षत्र का वृक्ष : आक / अकौन ।

23 धनिष्ठा नक्षत्र का वृक्ष : शमी और सेमर।

24 शतभिषा नक्षत्र का वृक्ष : कदम्ब।

25 पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र का वृक्ष : आम।

26 उत्तराभाद्रपद नक्षत्र का वृक्ष : पीपल और सोनपाठा / नीम।

27 रेवती नक्षत्र का वृक्ष : महुआ।

माना जाता है कि किसी भी मंदिर के आसपास इन वृक्षों को लगाने और इनकी पूजा करने से नक्षत्रों का दोष दूर हो जाता है। हर रोज इन पेडों के केवल दर्शन से ही नक्षत्र का दोष दूर हो जाता है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.