छठ पूजाः अस्त होते सूर्यदेव आज देंगे सौभाग्य का आशीर्वाद

डाला छठ पर्व के तहत राजधानी में खरना मनाया गया। वहीं, डाला छठ व्रत को लेकर यहां रहने वाले बिहार व पूर्वांचल वासियों के घरों में छठ माता व भगवान आदित्य का पूजन शुरू हो गया है।

जयपुर। छठी माता व सूर्य देवता की पूजा से संबंधित डाला छठ पर्व के तहत राजधानी में खरना मनाया गया। वहीं, डाला छठ व्रत को लेकर यहां रहने वाले बिहार व पूर्वांचल वासियों के घरों में छठ माता व भगवान आदित्य का पूजन शुरू हो गया है।

शाम को खरना (दूध-गुड की खीर) का भोग लगाकर भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया। मंगलवार शाम को डलिया में ठेकुआ, गन्ना, चना, फल व पूजन सामग्री रखकर अस्त होते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा।
 
- क्यों मनाया जाता है छठ पर्व, क्या है इसका वैज्ञानिक रहस्य?

अगले दिन सुबह उगते हुए सूर्य को अर्घ्य देने के बाद तीन दिनों से चल रहे उपवास का समापन होगा। संयुक्त महासभा की प्रदेश इकाई की ओर से मंगलवार को जयसिंहपुरा खोर में संवाद कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा।

पढ़ना न भूलेंः

- धर्म, ज्योतिष और अध्यात्म की अनमोल बातें



हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned