Vastu Tips: कपड़ों के ये रंग घर में बढ़ाते है नेगेटिविटी, जानें किस रंग के कपड़े चमकाते हैं किस्मत

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) के अनुसार कपड़ों या चादरों से घर में आ सकती है नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy)

By: Pratibha Tripathi

Published: 21 Jan 2021, 11:45 PM IST

वास्तु शास्त्र (Vastu Shastra) का हमारे जीवन पर गहरा असर पड़ता है यदि कहीं वास्तु दोष होता है तो वहां लाख कोशिशों के बाद भी धन हानि या स्वास्थ्य की समस्याएं बनी रहती हैं। ऐसे ही पहनने वाले और घर के कपड़ों का हमारे व्यक्तित्व पर गहरा असर पड़ता है। जानकार मानते हैं कि यदि कपड़े स्वच्छ हों तो इंसान के व्यवहार से लेकर आत्मविश्वास तक हर जगह उनकी छाप दिखाई देती है। कहा जाता है कि कपड़े व्यक्तित्व का आइना होते हैं। आइए वास्तु के अनुसार जानते हैं कपड़ों का महत्व।

वास्तु शास्त्र में बताया गया है कि फटे-पुराने कपड़े या चादर घर में नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy) पैदा करती हैं। फटे-पुराने कपड़ों को यदि उपयोग ही करना है तो सफाई के काम में उपयोग कर सकते हैं।

वास्तु शास्त्र में वर्णित है कि यदि नए वस्त्र धारण करने हों तो बुधवार, गुरुवार एवं शुक्रवार का दिन ही उत्तम माना गया है। शनिवार को नए वस्त्र पहनने से कपड़े जल्दी फटते हैं।

विवाह योग्य युवक-युवतियों को काले रंग के कपड़ों से परहेज करना चाहिए। बल्कि ऐसे जातक गुलाबी, नारंगी और हल्के रंग के वस्त्र धारण करें तो उन्हें अपेक्षाकृत अधिक लाभ मिल सकता है।

किसी कारणवश यदि किसी व्यक्ति में आत्मदुर्बलता का भाव है तो ऐसे व्यक्ति को लाल रंग के वस्त्र ज़्यादा पहनना चाहिए। लाल या उससे मिलते-जुलते रंग का कपड़ा पहनने से व्यक्ति में उत्साह और ऊर्जा का संचार होता है।

यदि किसी व्यक्ति में प्रेरणा की कमी है तो उसे पीले रंग का वस्त्र ज़्यादा धारण करना चाहिए। ऐसा करने से वह व्यक्ति चुनौती का सामना करने वाला प्रेरणा प्रदान करने वाला और अपने कर्तव्यों के प्रति सजग रहने वाला बनता है।

Pratibha Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned