औरैया हादसा : झपकियां ले रहा था ट्रक ड्राइवर, 24 को सुला दिया मौत की नींद

- घटना के वक्त था अंधेरा, ग्रामीण बने देवदूत
- जो चाय पीने ट्रक से उतरे उनकी बची जान

By: Hariom Dwivedi

Published: 16 May 2020, 03:58 PM IST

पत्रिका लाइव
औरैया. लॉकडाउन के बीच वापस घर लौट रहे कुछ मजदूर शनिवार तड़के 3:30 बजे भीषण सड़क दुर्घटना का शिकार हो गए। हाईवे पर औरैया में हादसा तब हुआ जब एक ट्रक पहले से खड़ी डीसीएम ट्रक से टकरा गया। दुर्घटना में 24 मजदूरों की मौत हुई है। जबकि, 15 से अधिक गंभीर रूप से घायल हैं। घायलों को सैफई मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। जिनकी मौत हुई उनमें कुछ राजस्थान से तो कुछ फरीदाबाद और गाजियाबाद से आ रहे थे। घायलों और मृतकों में अधिकतर बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के लोग हैं जो लॉकडाउन में रेलगाड़ियों के न मिलने की वजह से ट्रक और डीसीएम में सवार होकर अपने घरों को लौट रहे थे। ट्रक में बैठे लोगों ने बताया कि प्रवासी मजदूरों से भरी डीसीएम में जिस ट्रक ने टक्कर मारी उसका ड्राइवर नींद में था। वह नींद के कारण वह झपकियां ले रहा था, इसलिए उसे सड़क के किनारे खड़ी ट्रक नहीं दिखी। और पलक झपकते ही यह हादसा हो गया।

हादसे के वक्त डीसीएम सड़क के किनारे खड़ी थी। तभी ट्रक ने उसमें टक्कर मार दी। ग्रामीणों ने बताया कि डीसीएम चालक की भी गलती थी। हाइवे पर तेज रफ्तार में ट्रक चलती हैं। इसलिए उसे अपनी गाड़ी सड़क के किनारे से हटाकर चाय के ढाबे की ओर खड़ी करनी थी लेकिन उसने गलती की और सड़क से हटकर ही डीसीएम लगा दी। उधर ट्रक चालक जिसमें चूना लदा था और उसमें बड़ी संख्या में मजदूर सवार थे वह तेज रफ्तार में चला आ रहा था। उसे सड़क किनारे खड़ी डीसीएम नहीं दिखी। बताया जाता है ट्रक डइवर नींद के झोंके में गाड़ी चला रहा था इसलिए उसे डीसीएम नहीं दिखी और वह उससे भिड़ गया।

घटना के वक्त था अंधेरा, ग्रामीण बने देवदूत
औरेया के शहर कोतवाली क्षेत्र के मिहौली नेशनल हाईवे जहां 24 अप्रवासियों ने घर पहुंचने की चाह में अपनी जान गवां दी वहां हादसे के वक्त अंधेरा था। दिल्ली-कोलकाता हाईवे पर जिस ढाबे के पास चाय पीने के लिए मजदूरों से भरी डीसीएम रुकी थी वह चरूहली गांव कहलाता है। घायलों की चीख पुकार पर ग्रामीण दौड़े और उन्होंने राहत और बचाव का कार्य शुरू किया। जब तक पुलिस प्रशासन की गाड़ियां पहुंचतीं तब तक ट्रक के नीचे दबे लोगों को ग्रामीण निकाल चुके थे। ग्रामीणों ने बताया कि जब मलबे के नीचे दबे मजदूरों को निकाला गया तक उनमें कुछ की सांसें चल रही थीं। उन्हें पानी पिलाया गया। घायलों ने ग्रामीणों को अस्पताल पहुंचाने के लिए अपने स्तर से वाहनों का भी इंतजाम किया लेकिन तब तब स्थानीय थाने की पुलिस टीम आ चुकी थी। घायलों को पौ फटने से पहले अस्पताल पहुंचाया गया। सैफई के मेडिकल कालेज में समय से पहुुच जाने की वजह से बहुत से मजदूरों की जान बचायी जा सकी। घटना के बाद मजदूरों के सामान इधर-उधर बिखरे हुए हैं। हर तरफ तबाही का मंजर है।

जो चाय पीने ट्रक से उतरे उनकी बची जान
पुलिस ने बताया कि दोनों ट्रक में मजदूर सवार थे। दिल्ली से आया ट्रक ढाबे के पास रुका था। कुछ लोग चाय पी रहे थे। तभी राजस्थान से आ रहे ट्रक ने उसमें टक्कर मार दी। इसमें चूना भरा हुआ था और 30 मजदूर सवार थे। जो लोग चाय पीने ट्रक से उतरे थे उनकी जान बच गई। चश्मदीदों ने बताया कि हादसा राजस्थान से आ रहे ट्रक ड्राइवर की झपकी लगने से हुआ। टक्कर के बाद दोनों ट्रक पलट गए। चूने की बोरियों में मजदूर दब गए।

हेल्पलाइन नंबर जारी
औरैया एसपी कार्यालय की तरफ से हेल्पलाइन नंबर एसपी सुनीति के अनुसार, इन नंबर पर कॉल करके जानकारी प्राप्त की जा सकती है। हेल्पलाइन नंबर है- 9454402897, 9415714721 और लैंड लाइन-05683-249660...।

मुआवजे का ऐलान
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे पर दुख जताते हुए मृतक मजदूरों के परिजनों को 2-2 लाख और घायलों के उपचार के लिए 50-50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता का ऐलान किया है। कहा कि पीड़ितों को हर संभव राहत प्रदान की जाए और घायलों का समुचित इलाज हो। वहीं, समाजवादी पार्टी ने भी प्रदेश के प्रत्येक मृतक के परिवार को एक लाख रुपए की मदद पहुंचाने की घोषणा की है।

दो थानाध्यक्ष सस्पेंड
सीएम योगी ने दुर्घटना की जांच कराने और दोनों ट्रक मालिकों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करते हुए ट्रकों को सीज करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही घटना के लिए जिम्मेदार थानाध्यक्षों को तत्काल सस्पेंड करने का निर्देश दिया है। डीएसपी को कड़ी चेतावनी देते हुए आगरा के एडीजी, आईजी, एसएसपी, मथुरा के एसएसपी और अपर पुलिस अधीक्षक से स्पष्टीकरण तलब किया है।

यह भी पढ़ें : औरैया हादसे पर पीएम मोदी ने जताया दुख, अखिलेश-प्रियंका ने योगी सरकार को घेरा

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned