शिक्षकों का एक करोड़ का बकाया टैक्स कराया गया जमा

शिक्षकों का एक करोड़ का बकाया टैक्स कराया गया जमा
Income Tax Department

Shatrudhan Gupta | Updated: 25 Oct 2017, 08:44:09 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

आयकर अधिकारी उर्वीधर ने बताया कि अब तक औरैया जिले के सारे कार्य आयकर विभाग इटावा से संचालित हो रहे थे।

औरैया. शहर के इंडियन ऑयल सराय के समीप आयकर विभाग ने अपना ऑफिस खोलने का वादा पूरा कर दिया है। बुधवार को आयकर विभाग के उच्चधिकारियों ने विधिवत पूजन के बाद कार्यालय की शुरुआत की। आयकर अधिकारी उर्वीधर ने बताया कि अब तक औरैया जिले के सारे कार्य आयकर विभाग इटावा से संचालित हो रहे थे। उर्वीधर ने बताया कि इंडियन आयल चौकी के सामने किराए के भवन में कार्यालय खोला गया है, जिसका बुधवार को हवन पूजन करने के उपरांत कार्यालय की साज-सज्जा कराई गई। उन्होंने बताया कि मुख्य आयकर आयुक्त पश्चिमी उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड ने फीता काटकर ऑफिस का शुभारंभ किया। इसके अलावा विशिष्ट अतिथि के रूप में रेनू जौहरी प्रधान आयकर आयुक्त प्रथम आगरा एवं सुधीर चटर्जी अपर आयकर आयुक्त रेंज एक आगरा भी शामिल रहें।

आयकर अधिकारी ने बताया कि वर्ष 1962 से औरैया का समस्त आयकर का कार्य इटावा में स्थित विभाग से संचालित हो रहा था। वर्ष 2008 में अधिकारियों ने औरैया में आयकर विभाग का दफ्तर को ले जाने की स्वीकृति प्रदान कर दी थी, लेकिन उन्होंने बीते एक साल से लगातार प्रयास करते हुए इसमें सफलता हासिल की। उन्होंने बताया कि जनपद औरैया में 1,50,000 पैन कार्ड धारक है, जबकि आयकरदाता मात्र 13000 तथा टैक्स देने वाले लोग कुल 2500 हैं। विभाग में आज से पूरी तरह से कार्य चालू हो गया है।

औरैया आयकर अधिकारी उर्वीधर ने बताया कि जब उन्हें औरैया जिले का चार्ज मिला तो उनके संज्ञान में एक मामला आया, जिसमें शिक्षकों के द्वारा आयकर जमा करने में अनियमितता बरती गई थी। उन्होंने इसकी जानकारी उच्चाधिकारियों को दी। उन्होंने शिक्षकों द्वारा जमा किए जा रहे टैक्स के ऊपर आपत्ति जताई। यही नहीं, शिक्षकों द्वारा वार्षिक आयकर रिटर्न जमा करते समय अपनी आय कम दिखाकर टैक्स चोरी जैसे मामले में शामिल रहते थे। जब उन्होंने मामला संज्ञान में लिया तो सभी शिक्षकों को नोटिस जारी करते हुए बकाया टैक्स जमा किए जाने को कहा, इसके बाद जनवरी माह से जुलाई तक लगभग एक करोड़ रुपए का इनकम टैक्स शिक्षकों द्वारा जमा किया गया है। उन्होंने बताया कि अब महज कुछ ही ऐसे लोग रह गए हैं, जिनके ऊपर टैक्स बाकी है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned