UP 100 पर कॉल करने से पुलिस ही नहीं फायर और एम्बुलेंस भी पहुंचेगी आपके पास

एक UP 100 डायल से मिलेगी तीनों सेवाएं।

By: Dhirendra Singh

Published: 15 Jan 2018, 02:19 PM IST

औरैया. तकनीक के दौर में और समय की कमी के चलते रोज नए अविष्कार हो रहे है। ऐसा ही एक सफल प्रयोग यूपी पुलिस का आपातकालीन सेवा यूपी डायल 100 भी है। अब पुलिस, एंबुलेंस और फायर ब्रिगेड को एक साथ बुलाना हो तो अलग-अलग नंबर डायल करने की जरूरत नहीं है। 100 नंबर मिलाने से ही तीनों घटनास्थल पर पहुंच जाएंगे। अब तक इस नंबर को मिलाने पर सिर्फ पुलिस ही पहुंचती थी। लेकिन अब लखनऊ स्थित पुलिस मॉडर्न कंट्रोल रूम विकसित होने के बाद यह तीनों सुविधाएं एक साथ मिल सकेंगी।

यूपी 100 अब और विकसित हो गया है। अब यह आपकी समस्या के अनुरूप काम करेगा। यदि आपको एंबुलेंस की जरूरत है तो 100 डायल करने पर पुलिस और एंबुलेंस दोनों घटनास्थल पर पहुंच जाएंगे। सिर्फ यही नहीं आग लगने पर भी 100 डायल काम करेगा और फायर ब्रिगेड की गाड़ी आपकी बताई हुई जगह पर पहुंचेगी। इसके लिए जनपद में यूपी 100 कर्मियों को ट्रेनिग भी दी जा चुकी है। 100 डायल करने पर आपकी कॉल लखनऊ के शहीद पथ पर स्थित पुलिस मॉडर्न कंट्रोल रूम पर पहुंचेगी। इस कंट्रोल रूम से अब फायर ब्रिगेड और एंबुलेंस के कंट्रोल रूम को भी अटैच कर दिया गया है, ताकि एक कॉल से ही यह तीनों सुविधाएं लोगों को मिल सके। ट्रेनर शैलेंद्र कुमार यादव ने बताया कि इस सुविधा की जानकारी सभी यूपी 100 कर्मियों को दे दी गई है। इसके लिए 12 दिवसीय प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।

फायर ब्रिगेड की गाड़ियों में भी लगा एमडीटी

यूपी 100 से फायर ब्रिगेड को जोड़ने के बाद इसकी गाड़ियों में भी एमडीटी (मोबाइल डाटा टर्मिनल) लगा दिया गया है। इससे अब फायर ब्रिगेड के मौके पर पहुंचने का समय भी अधिकारियों को पता चल सकेगा। अब फायर ब्रिगेड भी यूपी 100 की तरह बिना देरी किए मौके पर पहुंच जाएगी। निगरानी रखने के लिए ही एमडीटी फायर ब्रिगेड की गाड़ियों में लगाया गया है। यूपी-100 के पुलिस कर्मियों की तरह उन्हें भी घटनास्थल की फोटो व वीडियो आदि कंट्रोल रूम को भेजना होगा।

कारगर होगा यूपी 100 का सिटीजन इमरजेंसी एप

यूपी 100 का सिटीजन इमरजेंसी एप खासा कारगर सिद्ध होगा। महिलाओं व युवतियों के लिए यूपी 100 का यह एप काफी मददगार होगा। इस एप को मोबाइल पर डाउनलोड करने के बाद रजिस्टर करना होगा। इसके बाद जब कभी समस्या में फंसे हों तो इस एप के एसओएस दबाते ही आपकी लोकेशन, फोटो, वीडियो और ऑडियो कंट्रोलरूम पर पहुंच जाएगी। इसके साथ जिन पांच नंबर को आपने इस एप में जोड़ रखा होगा, उनके पास भी आपके फंसे होने की जानकारी पहुंचेगी। इसके कुछ ही देर में आपकी मदद के लिए पुलिस मौके पर पहुंच जाएगी।

Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned