scriptMany fold growth in EV sale : Rise in Electric Vehicle and two wheeler | Many fold growth in EV sale : राजस्थान में इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड पूरे देश से कम | Patrika News

Many fold growth in EV sale : राजस्थान में इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड पूरे देश से कम

जैसे -जैसे पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी हो रही है, लोगों में वैकल्पिक ईंधन पर चलने वाले वाहनों की ओर रुझान भी देखने का मिल रहा है। एक तरफ सीएनजी वाहनों की मांग बढ़ रही है तो दूसरी तरफ इलेक्ट्रिकल वाहनों की मांग में भी तेज ग्रोथ देखी जा रही है। इलेक्ट्रिकल व्हीकल में तो 400 प्रतिशत से अधिक की ग्रोथ देखी गई है।

जयपुर

Published: April 11, 2022 12:38:02 pm

जयपुर। भारत समेत राजस्थान में इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड लगातार तेजी के साथ बढ़ रही है। विशेषकर दो पहिया वाहन सेग्मेंट में इलेक्ट्रिक वाहनों की खासी मांग देखी जा रही है। भारत में कुल इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री पिछले वित्त वर्ष के मुकाबले वित्त वर्ष 22 में तीन गुना से ज्यादा हुई है। फाडा यानी फेडरेशन ऑफ ऑटो डीलर एसोसिएशन ने इस पर एक रिपोर्ट जारी की है।
ev-charging.jpg
Electric Vehicle and Scooter Charging
दो पहिया इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड में करीब 460 प्रतिशत की तेजी

फाडा के रीजनल निदेशक कौशल अग्रवाल ने पत्रिका को बताया कि राजस्थान में पिछल साल इलेक्ट्रिक वाहनों की डिमांड में करीब 350 प्रतिशत की तेजी रही है। अग्रवाल ने बताया कि राजस्थान में साल 2020-21 में टू व्हीलर सेग्मेंट में इलक्ट्रिक वाहनों का शेयर 1 प्रतिशत था जो कि 2021-22 में बढ़कर 6 प्रतिशत हो गया है। अग्रवाल ने बताया कि राजस्थान में फाडा के ऑंकड़ों के अनुसार वर्ष 2020 में मात्र 4298 इलेक्ट्रिक टू व्हीलर बिके थे जो कि 2021-22 में बढ़कर 19306 हो गए। इस तरह से इसमें 349 प्रतिशत की ग्रोथ दर्ज की गई।
पूरे देश की बात करें तो, पिछले वित्त वर्ष में इलेक्ट्रिक दोपहिया की खुदरा बिक्री 2,31,338 इकाई रही, जो 2020-21 में 41,046 इकाइयों से पांच गुना अधिक है। इस तरह इसमें 463 प्रतिशत की ग्रोथ देखी गई है। इसमें भी हीरो इलेक्ट्रिक ने 65,303 इकाइयों की बिक्री के साथ घरेलू बाजार में 28.23 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल करते हुए इस सेगमेंट में अपनी बढ़त बनाए रखी है। इसके बाद ओकिनावा ऑटोटेक का स्थान रहा, जिसने पिछले वित्त वर्ष में 46,447 इकाइयों की बिक्री की। 24,648 यूनिट्स की बिक्री के साथ एम्पीयर व्हीकल्स ने इस सेग्मेंट में तीसरा स्थान हासिल किया।
हर सेग्मेंट में है तेजी

सिर्फ टू-व्हीलर सेग्मेंट में ही इलेक्ट्रिक वाहनों में बढ़ोतरी नहीं दिख रही है। डीलरों की संस्था फाडा द्वारा संकलित आंकड़ों के अनुसार, देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की रिटेल बिक्री में ओवरऑल भारी उछाल आया है। पिछले वित्त वर्ष की तुलना में वित्त वर्ष 22 में इलेक्ट्रिक वाहनों की रिटेल बिक्री तीन गुना से अधिक बढ़ी है। फाडा के रीजनल डायरेक्टर कौशलेंद्र ने बताया कि कुल इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) की बिक्री 2021-22 में 4,29,217 इकाइयों तक पहुंच गई, जो वित्त वर्ष 2020-21 में 1,34,821 इकाइयों से तीन गुना अधिक है। वहीं, वित्त वर्ष 2019-20 में कुल ईवी की बिक्री 1,68,300 इकाई थी।
Tata Motors चार पहिया में सबसे आगे

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) के अनुसार पिछले वित्त वर्ष के दौरान इलेक्ट्रिक यात्री वाहन खुदरा बिक्री 17,802 थी, जो वित्त वर्ष 21 में 4,984 इकाइयों से तीन गुना अधिक थी। घरेलू ऑटो प्रमुख टाटा मोटर्स ने 15,198 इकाइयों के रिटेल और वर्टिकल में 85.37 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी के साथ इलेक्ट्रिक सेगमेंट का नेतृत्व किया। मुंबई स्थित कंपनी की रिटेल बिक्री 2020-21 में 3,523 इकाई थी।
वहीं, एमजी मोटर इंडिया पिछले वित्त वर्ष में 2,045 इकाइयों की बिक्री के साथ 11.49 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ दूसरे स्थान पर रही। वित्त वर्ष 2020-21 में इसकी 1,115 यूनिट्स की बिक्री हुई थी। महिंद्रा एंड महिंद्रा और हुंडई मोटर इंडिया क्रमशः 156 और 128 इकाइयों के प्रेषण के साथ तीसरे और चौथे स्थान पर रहे। इन दोनों कंपनियां की 1 प्रतिशत से कम की बाजार हिस्सेदारी है। FADA के आंकड़ों में कहा गया है कि M & M और Hyundai ने 2020-21 के वित्तीय वर्ष में क्रमशः 94 और 184 इकाइयां बेचीं थी।
टू-व्हीलर ईवी सेगमेंट में हीरो इलेक्ट्रिक आगे

हीरो मोटोकॉर्प समर्थित एथर एनर्जी 2021-22 में 19,971 इकाइयों के पंजीकरण के साथ चौथे स्थान पर रही।वहीं, बेंगलुरू की ओला इलेक्ट्रिक 14,371 इकाइयों की बिक्री के साथ छठे स्थान पर रही, जबकि टीवीएस मोटर कंपनी ने 9,458 इकाइयों के पंजीकरण के साथ पिछले वित्त वर्ष में सातवां स्थान हासिल किया।
कॉमर्शियल ईवी की भी बिक्री बढ़ी

फाडा ने कहा कि पिछले वित्त वर्ष में कुल इलेक्ट्रिक तिपहिया वाहनों की बिक्री 1,77,874 इकाई थी, जो पिछले वित्त वर्ष में 88,391 इकाइयों से दो गुना अधिक थी। इसी तरह फाडा ने उल्लेख किया कि पिछले वित्त वर्ष में इलेक्ट्रिक वाणिज्यिक वाहन की बिक्री बढ़कर 2,203 इकाई हो गई, जबकि वित्त वर्ष 21 में यह 400 इकाइयों की तुलना में थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: दिल्‍ली में फैक्‍ट्री से 21 बाल मजदूर छुड़ाए गए, आरोपी फैक्ट्री मालिक की 6 फैक्ट्रियां सीलसुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरपंजाब CM Bhagwant Mann का एक और बड़ा फैसला, सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी भाषा है जरूरीकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजहशिवसेना नेता यशवंत जाधव की बढ़ी मुश्किलें, ED ने जारी किया समन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.