scriptModifying your car and bike can get you fined or imprisoned | सावधान! कार और बाइक को किया मॉडिफाई तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना और हो सकती है जेल | Patrika News

सावधान! कार और बाइक को किया मॉडिफाई तो भरना पड़ेगा भारी जुर्माना और हो सकती है जेल

अगर आप अपनी कार और बाइक को मॉडिफाई करने की सोच रहे है, तो सावधान! इसके लिए आपको भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है। साथ ही जेल की हवा खाने तक की नौबत आ सकती है।

नई दिल्ली

Published: December 07, 2021 02:25:12 pm

नई दिल्ली। अक्सर ही लोग कार और बाइक को मॉडिफाई करवा लेते हैं। कार और बाइक को मॉडिफाई करवाने के पीछे कई कारण हो सकते हैं, जैसे कि इनके लुक्स को बेहतर बनाना, स्टाइल को अपडेट करना, परफॉर्मेन्स में सुधार करना आदि। सिर्फ यहीं नहीं, कुछ लोग तो दूसरे लोगों को इम्प्रेस करने के चक्कर में भी अपनी कार और बाइक को मॉडिफाई करवा लेते हैं। हालांकि निर्माता कंपनियां मॉडिफिकेशन की सलाह नहीं देती हैं, पर लोग फिर भी प्राइवेट गैरेज में जाकर अपनी कार और बाइक मॉडिफाई करवा लेते हैं। ऐसा कई देशों में देखने को मिलता है, जिनमें से भारत भी एक है। पर भारत में ऐसा करना पूरी तरह से गैर-कानूनी है।
punishment_for_vehicle_modification.png
Modifying your car and bike can get you in trouble
कर सकता है भारी मुसीबत का सामना

अगर आप अपने वाहन को मॉडिफाई करवाने की सोच रहे है, तो आपको भारी मुसीबत का सामना करना पड़ सकता है। मॉडिफिकेशन के जुर्म में पकड़े जाने पर आपको 5,000 रुपये प्रति मॉडिफिकेशन का जुर्माना भरना पड़ सकता है। यहीं नहीं, इस काम के लिए आपको 6 महीने तक जेल की हवा भी खानी पड़ सकती है। मॉडिफिकेशन के खिलाफ 2019 में सुप्रीम कोर्ट (SC) ने इसे गैर-कानूनी घोषित किया है। सुप्रीम कोर्ट के अनुसार वाहन के रजिस्ट्रेशन पेपर में जो सुचना दे रखी हैं, उसके विपरीत वाहन में किसी भी तरह का मॉडिफिकेशन गैर-कानूनी माना जाएगा, जिसके लिए सज़ा का प्रावधान है।
planning_to_modify_your_vehicle_can_get_you_in_trouble.pngकुछ मामूली बदलाव किए जा सकते हैं

परमिशन और कागज़ी कार्रवाई के साथ वाहनों में कुछ मामूली बदलाव किए जा सकते हैं। अगर कोई अपनी कार के फ्यूल टाइप को बदलना चाहता है या कार में CNG किट लगवाना चाहता है, तो RTO से परमिशन लेनी होगी। वाहन का रंग बदलने के लिए भी इसी तरह RTO की परमिशन लेनी पड़ती है। इसी के साथ दूसरे मामूली बदलाव जैसे डोर प्रोटेक्टर या रेन गार्ड लगवाना, सस्पेंशन सेटिंग्स को बदलना, टायर के साइज़ को थोड़ा बदलना और हेडलाइट्स/टेल-लाइट्स को बदलना जैसे बदलाव गैर-कानूनी नहीं माने जाते।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरपीएन सिंह ने छोड़ी कांग्रेस, सोनिया गांधी को सौंपा अपना इस्तीफाRepublic Day 2022: आज होगी वीरता पुरस्कारों की घोषणा, गणतंत्र दिवस से पूर्व राजधानी बनी छावनीRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने जारी की एडवाइजरी, घर से निकलने से पहले जरूर जान लेंDelhi: सीएम केजरीवाल का ऐलान, अब सरकारी दफ्तरों में नेताओं की जगह लगेंगी अंबेडकर और भगत सिंह की तस्वीरेंशरीयत पर हाईकोर्ट का अहम आदेश, काजी के फैसलों पर कही ये बातUP Election Campaign :मायावती दो फरवरी से करेंगी प्रचार का आगाज, आगरा में होगी पहली जनसभा7th Pay Commission: कर्मचारियों में खुशी की लहर, जल्द खाते में आएंगे पैसे, एलाउंस भी मिलेगापुलिस को देखकर फिल्मी स्टाइल में बेरिकेट तोड़कर भागे तस्कर, जब जवानों ने की चेकिंग तो मिला डेढ़ करोड़ का गांजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.