scriptSix airbags are compulsory for even smaller cars Check details | अब इस फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी गाड़ी, नितिन गडकरी ने ट्वीट कर दी जानकारी | Patrika News

अब इस फीचर के बिना नहीं बिकेगी कोई भी गाड़ी, नितिन गडकरी ने ट्वीट कर दी जानकारी

ध्यान देने वाली बात है, कि भारत उन शीर्ष देशों में से एक है जो हर साल बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं दर्ज कराता है। इन सड़क हादसों में बड़ी संख्या में मौतें और गंभीर चोटें आती हैं।

नई दिल्ली

Published: January 14, 2022 06:39:34 pm

देश में सड़क सुरक्षा को लेकर सरकार लगातार प्रयास कर रही है, इसी दिशा में कदम बढ़ाते हुए आज केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने एक ट्वीट में कहा कि उन्होंने मोटर वाहनों के लिए कम से कम छह एयरबैग अनिवार्य बनाने के लिए जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दे दी है। यानी अब हर सेगमेंट की कार चाहे वह हैचबैक हो या एसयूवी सभी में 6 एयरबैग का होना अनिवार्य होगा।

six_airbags-amp.jpg
Six Airbags

ट्वीट्स की एक श्रृंखला में, गडकरी ने यह भी कहा कि सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) ने पहले ही 1 जुलाई 2019 से प्रभावी ड्राइवर एयरबैग और फ्रंट को-पैसेंजर एयरबैग को लागू करना अनिवार्य कर दिया है, जो इस साल 1 जनवरी से प्रभावी है। वहीं अब कार में कम से कम 6 एयरबैग होने चाहिए। जिससे वाहन चलाने वाले के साथ पीछे बैठे यात्री भी सुरक्षत रहेंगे।


सुरक्षित होंगे पीछे बैठे यात्री


गडकरी ने आगे कहा कि सभी बाहरी यात्रियों को कवर करने वाले दो साइड या साइड टोरसो एयरबैग और दो साइड कर्टेन या ट्यूब एयरबैग को नए पैसेंजर वाहनों में लगाना अनिवार्य होगा। "भारत में मोटर वाहनों को पहले से कहीं अधिक सुरक्षित बनाने के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम है।" उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि यह सभी खंडों में यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा, चाहे वाहन की कीमत या प्रकार कुछ भी हो।

बताते चलें, कि इस साल 1 जनवरी से ड्यूल फ्रंट एयरबैग अनिवार्य हो गए हैं, लेकिन यह ड्राइवर और सामने के सह-यात्री की फ्रंट-इफेक्ट सुरक्षा के लिए है। वहीं यह नया नियम जो नए वाहनों के लिए साइड कर्टेन एयरबैग को अनिवार्य बनाता है, साइड इफेक्ट में रहने वालों के लिए सुरक्षा सुनिश्चित करेगा।



भारत में सड़क दुर्घटना में होती हैं सबसे ज्यादा मौत

ध्यान देने वाली बात है, कि भारत उन शीर्ष देशों में से एक है जो हर साल बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं दर्ज करता है। इन सड़क हादसों में बड़ी संख्या में मौतें और गंभीर चोटें आती हैं। जबकि यातायात उल्लंघन को दुर्घटनाओं के पीछे प्रमुख कारणों के रूप में जिम्मेदार ठहराया जाता है, हालांकि वाहन की सुरक्षा दुर्घटनाओं का एक महत्वपूर्ण कारण है, क्योंकि छोटे प्रवेश स्तर के वाहनों में ही बड़ी संख्या में मौतें होती हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.