Lockdown के बाद बढ़ेगी इन कारों की बिक्री, जानिए क्या है कारण

लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर हो रही है। ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि लॉक डाउन के बाद महंगी और मिडरेंज गाड़ियों की बिक्री में भारी कटौती आएगी तो वही सस्ती और पॉपुलर हैचबैक कारों की बिक्री बढ़ेगी।

By: Vineet Singh

Published: 10 May 2020, 11:39 AM IST

नई दिल्ली: भारत मे जो लॉक डाउन लगा हुआ है उसकी वजह से लगातार कंपनियां और लोग घाटे में आ रहे हैं। कंपनियों में काम करने वाले कर्मचारियों को भी काफी नुकसान हो रहा है क्योंकि घर बैठने की वजह से उनकी सैलरी डिडक्शन किया जा रहा है। ऐसे में लोगों की आर्थिक स्थिति कमजोर हो रही है। ऐसा अंदाजा लगाया जा रहा है कि लॉक डाउन के बाद महंगी और मिडरेंज गाड़ियों की बिक्री में भारी कटौती आएगी तो वही सस्ती और पॉपुलर हैचबैक कारों की बिक्री बढ़ेगी। तो आज हम आपको उन्हीं कारों के बारे में बताने जा रहे हैं जिनकी बिक्री लॉग डाउन के बाद बढ़ने की संभावनाएं हैं।

Renault Kwid : डिजाइन और कीमत की बात करें तो रेनो क्विड को भारत में काफी पसंद किया जाता है अगर इसे भारत की सबसे सस्ती हैचबैक कार कहे तो यह गलत नहीं होगा। इस कार की कीमत 2.92 लाख से शुरू होती है। रेनो क्विड Bs6 21 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है।

Hyundai Santro : हुंडई सैंटरो भारत की एक नामी किफायती कार है जिसे हाल ही में दोबारा से लांच किया गया है। अगर आप हुंडई सैंटरो Bs6 खरीदना चाहते हैं तो मार्केट में इसकी कीमत 4.57 लाख से शुरू होती है और यह कार 20.3 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है।

Maruti Alto : मारुति सुज़ुकी ऑल्टो भारत में एक बेहद ही पॉपुलर कार है और इस साल 2019 में ही Bs6 नॉर्म्स के हिसाब से अपडेट किया जा चुका है ऐसे में अब आप इसे खरीद सकते हैं। एक हैचबैक कार है जो 22.05 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है। स्कॉर्पियो आप महज 2.94 लाख रुपए की कीमत में खरीद सकते हैं।

Maruti S-Presso : मारुति सुज़ुकी एस्प्रेसो को हाल ही में लांच किया गया था और यह एक माइक्रो एसयूवी है। भारत में मारुति एस-प्रेसो की शुरुआती कीमत 3.7 लाख रुपए है। यह एक बेहद हल्की कार है और यह 21.7 किलोमीटर प्रति लीटर का माइलेज देती है।

Vineet Singh Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned