scriptSanskrit University to be built in Ayodhya in name of Baba Abhiram das | राम जन्मभूमि में श्री रामलला को स्थापित करने वाले संत बाबा अभिराम दास के नाम से बनेगा संस्कृत विश्वविद्यालय | Patrika News

राम जन्मभूमि में श्री रामलला को स्थापित करने वाले संत बाबा अभिराम दास के नाम से बनेगा संस्कृत विश्वविद्यालय

अयोध्या के बेनीगंज स्थित हनुमान मंदिर पर राम जन्म भूमि के प्रकार व निर्वाणी अनी अखाड़ा के महंत धर्मदास के गुरु बाबा अभिराम दास के 41वीं पुण्यतिथि पर संतों ने दी श्रद्धांजलि

अयोध्या

Published: December 04, 2021 05:58:22 pm

अयोध्या। 1949 में राम जन्मभूमि परिसर में भगवान श्री राम की मूर्ति स्थापित करने वाले दिवंगत महंत अभिराम दास के नाम से संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना कराया जाएगा। जिसमें वेद व धार्मिक ग्रंथों का प्रशिक्षण कराया जाएगा इसके लिए सरयू तट स्थित जमथरट पर बनेगा। इसका कार्य चैत्र रामनवमी से प्रारंभ होगा।
राम जन्मभूमि में श्री रामलला को स्थापित करने वाले संत बाबा अभिराम दास के नाम से बनेगा संस्कृत विश्वविद्यालय
राम जन्मभूमि में श्री रामलला को स्थापित करने वाले संत बाबा अभिराम दास के नाम से बनेगा संस्कृत विश्वविद्यालय
अयोध्या में बनेगा वेद व संस्कृत विश्वविद्यालय

राम जन्मभूमि के पक्षकार रहे महंत धर्मदास ने अपने गुरु और राम जन्मभूमि आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले बाबा अभिराम दास जी महाराज की 41वी पुण्यतिथि मनाई। तो वही बाबा अभिराम दास के श्रद्धांजलि सभा आयोजित की गई। इस दौरान संत महंतों ने पुष्पांजलि समर्पित की। दरसल 22-23 दिसंबर, 1949 की रात को विवादित इमारत में बाबा अभिराम दास ने रामलला की मूर्ति स्थापित की थी। वही इस पुण्यतिथि के अवसर पर महंत धर्मदास ने घोषणा की है।उन्होंने कहा कि बाबा अभिराम दास के नाम से अयोध्या धाम में संस्कृत विश्वविद्यालय बनाया जाएगा। इस विश्वविद्यालय का नाम राम जन्मभूमि समर्पित बाबा अभिराम दास वेद वेदांग शिक्षण प्रशिक्षण विद्या पीठम के नाम से होगा।वही कहा जो सरयू के तट पर संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी। चैत रामनवमी के पहले कार्य आरंभ होगा।
राम मंदिर के लिए जीवन किया था समर्पित

वहीं कहा कि राम जन्म भूमि के उद्धारक बाबा अभिराम दास जी जिन्होंने राम जन्मभूमि परिसर में 1949 में रामलला की मूर्ति रखी आज उस महापुरुष की 41वाँ पुण्यतिथि है। 1981 में महाराज जी का स्वर्गवास हुआ था और उस दिन हम सभी गुरु भाई को याद करते हैं। सही कहा कि बाबा अभिराम दास राम जन्मभूमि उद्धार के लिए पूरा जीवन समर्पण कर दिया राम जन्मभूमि परिसर में होने वाली सभी घटनाओं में महाराज जी ही अहम भूमिका रही है। उनके द्वारा मूर्ति को प्रकट कराया गया था। यह सब भगवान का खेल है और महाराज जी आनंद ने राम के भक्त थे 24 घंटे में 20 घंटे सिर्फ राम नाम का भजन ही करते थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Azadi Ka Amrit Mahotsav में बोले पीएम मोदी- ये ज्ञान, शोध और इनोवेशन का वक्तपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारUP Assembly Elections 2022 : निर्भया केस की वकील सीमा समृद्धि कुशवाहा बसपा में हुईं शामिल, मायावती को सीएम बनाने का लिया संकल्पBJP से टिकट कटते ही पर्रिकर के बेटे को केजरीवाल का न्यौता, कहा- पार्टी में आपका स्वागत हैUttarakhand Election 2022: बीजेपी ने जारी की लिस्ट, त्रिवेंद्र रावत का नाम नहीं, हरक के करीबी को मौका
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.