Ram Mandir Update : 2 माह ने बन जायेगा राम मंदिर का बेस प्लिंथ

राम जन्मभूमि परिसर में कार्य को तेज करने 100 से अधिक वर्करों को बुलाया गया अयोध्या

By: Satya Prakash

Published: 27 Jul 2021, 10:28 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
अयोध्या. राम मंदिर निर्माण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 5 अगस्त 2020 में भूमि पूजन के बाद निर्माण कार्य को शुरू कर दिया गया था। जिसके श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने निर्माण के लिए 2023 की डेड लाइन तय किए जाने के बाद निर्माण कार्य गति को तेज कर दिया गया है। वर्तमान में एलएंडटी व टाटा कंसर्टेट इंजीनियरिंग के साथ राजस्थान के बाला जी कंस्ट्रक्शन कार्य कर रही है। जिसके बाद मिर्जापुर के सुमित्रा मेसर्स द्वारा मिर्जापुर के पत्थरों के कार्य किया जाएगा।

निर्माण की गति बढाने के लिए मजदूरों की संख्या में हुई बढ़ोत्तरी

राम मंदिर निर्माण को लेकर चल रहे नींव की भराई का कार्य 50 प्रतिशत से अधिक पूरा हो चुका है। इसके लिए एलएंडटी व बाला जी कंस्ट्रक्शन कंपनी के द्वारा 24 घण्टे कार्य कर रही है। तो वहीं अब निर्माण की गति को तेज करने के लिए एलएंडटी ने अपने मजदूरों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया है मिली जानकारी के मुताबिक एलएंडटी ने 100 से अधिक मजदूरों को बुला लिया है। जिसके लिए मध्यप्रदेश व राजस्थान के मजदूर विभिन्न साधनों से अयोध्या पहुंचने लगे। जिन्हें रामकोट क्षेत्र स्थित बने वर्कर सेट में रोके जाने की व्यवस्था बनाई गई थी।

बेस प्लिंथ निर्माण के परिसर पहुंचा मशीन

मंदिर के नींव के बेस प्लिंथ में लगने वाले मिर्जापुर के पत्थरों की आपूर्ति के साथ सुमित्रा मेसर्स ने अभी मशीनों को परिसर पहुंचा दिया है। सुमित्रा मेसर्स के प्रोप्राइटर विनोद कुमार ने बताया कि पत्थरों को अयोध्या लाए जाने का क्रम शुरू कर दिया गया है तो वही बताया कि बेस प्लिंथ पर पत्थरों को लगाए जाने के लिए दो मशीन परिसर पहुंच गया है लगभग 15 इंजीनियर व सहायक भी पहुंच गए है। नींव भराई का कार्य पूरा होते ही वर्करों को लाये जाने के साथ पत्थरों को बिछाए जाने का कार्य भी शुरू कर दिया जाएगा। एलएंडटी में इस कार्य के लिए 2 माह का समय निर्धारित किया है।

Ram Mandir
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned