अभिनेता अक्षय कुमार की अपील, राम मंदिर निर्माण के लिए बनें वानर व गिलहरी

- मार्मिक वीडियो जारी कर मांगा आमजन से सहयोग

By: Neeraj Patel

Published: 18 Jan 2021, 02:34 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
अयोध्या. राम नगरी अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने लोगों से दान देनेकी अपील की है कि वो अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में अपनी स्वेच्छा से अपना योगदान दें। उन्होंने एक मार्मिक वीडियो जारी कर आमजन से भी सहयोग मांगा है और एक कहानी सुनाकर लोगों को प्रेरित कर कहा कि मंदिर निर्माण शुरू हो चुका है। अब योगदान की बारी हमारी है। मैंने शुरुआत कर दी है, उम्मीद है कि आप भी साथ जुड़ेंगे। अक्षय कुमार ने ट्विटर पर जो वीडियो शेयर किया है, उसमें उनका कहना है कि कल रात मैं अपनी बेटी को एक कहानी सुना रहा था। आप सुनेंगे? एक तरफ वानरों की सेना थी और दूसरी तरफ थी लंका और दोनों के बीच में महासागर। वानर सेना बड़े-बड़े पत्थर को उठाकर समंदर में डाल रही थी। रामसेतु का निर्माण कर सीता मय्या को वापस जो लाना था। प्रभु श्रीराम किनारे पर खड़े सब कुछ देख रहे थे। तभी उनकी नजर एक गिलहरी पर पड़ी।

अक्षय ने आगे कहा कि गिलहरी पानी में जाती फिर किनारे पर आती, रेत में लोट जाती थी, फिर रामसेतु के पत्थरों की ओर भागती। फिर से पानी में जाती, फिर रेत पर, फिर पत्थरों पर। राम जी को अश्यचर्य हुआ कि ये हो क्या रहा है। वो गिलहरी के पास गए और उससे पूछा कि तुम कर क्या रही हो। तब गिलहरी ने जवाब दिया कि मैं अपने शरीर को गीला करती हूं। उस पर रेत लपेटती हूं और पत्थरों के बीच में जो दरारें हैं उसे भर रही हूं। रामसेतु के निर्माण में मैं भी अपना छोटा सा योगदान दे रही हूं। इसी कहानी को याद करके सभी वानर और गिलहरी बनकर मन्दिर निर्माण में अपना सहयोग दें।

 

39 महीने में बन जाएगा राम मन्दिर

अक्षय कुमार ने कहा कि आज बारी हमारी है। अयोध्या में भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है। हम में से कुछ वानर और कुछ गिलहरियां बने और अपनी अपनी क्षमता के अनुसार योगदान देकर ऐतिहासिक भव्य राम मंदिर बनाने में साझेदार बनें। उन्होंने कहा कि मैं खुद करता हूं शुरुआत। मुझे विश्वास है कि आप भी मेरे साथ जुड़ेंगे, ताकी आने वाली पीढ़ियों को इस भव्य मंदिर से मर्यादा पुर्षोत्तम राम के जीवन और संदेश पर चलने की प्रेरणा मिलती रहे। वहीं राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि देश के पांच बड़े इंजीनियरिंग संस्थान, भवन निर्माण और भू-गर्भ के अध्ययन से जुड़ी संस्थाओं के वैज्ञानिकों ने मंदिर की नींव और धरती के नीचे का अध्ययन किया है। नींव के लिए कार्य प्रारंभ हो गया है। 39 महीने में मंदिर बन जाएगा।

Ram Mandir
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned