राम मंदिर के बाद देश में रामराज्य की संकल्पना बुनेगी सरकार

होमगार्ड के पूर्व डीजी सूर्य प्रकाश ने रामलला का दर्शन कर कहा मंदिर निर्माण के बाद देश के भ्रष्टाचारियों का होगा अंत

अयोध्या : राम जन्मभूमि पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद देश मे राम राज्य स्थापना की परिकल्पना देखी जा रही है। फैसले के बाद रामलला के दर्शन करने होमगार्ड के पूर्व डीजी सूर्य प्रकाश अयोध्या पहुंचे। जहां अयोध्या के हनुमान गढ़ी सहित रामलला का भी दर्शन पूजन किया। इस दौरान पूर्व डीजी ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया।

अयोध्या पहुंचे पुर डीजे सूर्य प्रकाश ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले से अत्यंत खुशी मिली कि जो मामला 491 वर्षों से लंबित था। फैसला आने से सबसे बड़ी श्रद्धा के केंद्र भगवान राम का मंदिर यथासंभव शीघ्र बन जाए वह दिन देखने को मिला । सबसे बड़ी खुशी की बात यह है कि हिंदू मुस्लिम सभी लोगों ने बड़ी सद्भावना के साथ बहुत उदारता के साथ पूरे हिंदुस्तानियों के पूर्वज भगवान राम का मंदिर बनाने का समर्थन किया कोर्ट के जजमेंट का स्वागत किया। राम मंदिर के बाद अब आगे रामराज्य का लक्ष्य होना चाहिए अर्थात् शासन और प्रशासन की व्यवस्था जो दुनिया में सर्वोत्तम हो आदर्श हो ऐसी व्यवस्था जिसमें हर व्यक्ति का कल्याण हो। और एक नए युग का सूत्रपात किया जाए।

अब सिर्फ राम मंदिर का निर्माण नहीं है इसी के साथ रामराज्य की भावना के अनुसार देश की सभी शाखाओं शासन-प्रशासन, तकनीकी, उद्योग, व्यापार सब में ऐतिहासिक सुधार और परिवर्तन होगा और जो भी देश के समस्त क्षेत्र में समस्याएं बची हुई हैं चाहे वह सांस्कृतिक पुनर्जागरण की। लोगों के रोजगार और आर्थिक समस्या का समाधान इससे प्रेरणा लेकर मिलजुल कर लोग करेंगे। वहीं दूसरी ओर जैसे त्रेता युग में भगवान राम अत्याचार के प्रतीक रावण का वध किया उसी तरह भारत की सेना आज के आतंकी जिससे पूरी दुनिया त्रस्त है। उन आतंकियों का खात्मा करेगा। वहीं विश्वास प्रकट करते हुए कहा कि अब राम मंदिर के निर्माण और रामराज्य की स्थापना के साथ इन लोभ अहंकार जैसी प्रवृत्तियों का भी खात्मा होगा करने के लिए भगवान श्री राम से प्रेरणा से ओतप्रोत कई लोग ऐसे होंगे जो आज की परिस्थिति पर कंट्रोल करेगा।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned