scriptAnother scam of 20 crore land in Ayodhya | अयोध्या में 20 करोड़ के भूमि का एक और घोटाला, भूमाफिया के साथ अफसरों के भी शामिल होने का आरोप | Patrika News

अयोध्या में 20 करोड़ के भूमि का एक और घोटाला, भूमाफिया के साथ अफसरों के भी शामिल होने का आरोप

राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने इस जमीन घोटाले पर मुख्यमंत्री से जांच की उठाई मांग

अयोध्या

Published: June 11, 2022 12:47:15 pm

अयोध्या. नगर निगम अयोध्या क्षेत्र में एक और बड़े भूमि के घोटाले का मामला सामने आया है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता ने मुख्यमंत्री से की है। उनका आरोप है कि चारागाह की भूमिका ब्लॉक बदलकर भूमाफिया 20 करोड़ की कीमत में जमीनों को बेचने की कोशिश कर रहे हैं जिसमें कई अधिकारियों के शामिल होने बात सामने आ रही है।
अयोध्या में 20 करोड़ के भूमि का एक और घोटाला, भूमाफिया के साथ अफसरों के भी शामिल होने का आरोप
अयोध्या में 20 करोड़ के भूमि का एक और घोटाला, भूमाफिया के साथ अफसरों के भी शामिल होने का आरोप
चारागाह जमीन को बेचने की फिराक में भूमाफिया

अयोध्या कि नगर निगम क्षेत्र में उजालों पाली में भूमि गाटा संख्या 446 का है जहां ट्रस्ट कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता निवासी गणेशपुर देवकाली के आईजीआरएस पर भेजे गए शिकायत पत्र में कहा गया है कि गाटा संख्या 446 कर रकबा 1070 हेक्टेयर भूमि चारागाह के रूप में दर्ज था। लेकिन चकबंदी कर आदेश पर इस भूमि को नवीन परती के रूप में दर्ज कर लिया गया था। इसके बाद 23 दिसम्बर 2020 को इस जमीन पर सिब्बन पुत्र नंद लाल निवासी को श्रेणी तीन असामी से श्रेणी एक ख असंक्रमणिय भूमिधर घोषित कर दिया है। इसके बाद अपर आयुक्त प्रशासन अयोध्या मंडल कर यहां दाखिल बाद 5 फरवरी 2022 को ही एसडीएम सदर के आदेश को निरस्त करते हुए संक्रमणिय घोषित केेर दिया है।
मुख्यमंत्री के पोर्टल पर दर्ज किया गया शिकायत

इसके बाद सडीएम सदर की कोर्ट में दाखिल वाद के आधार पर गांटा संख्या 446 के रकबा.55 को आकृषक घोषित कर दिया गया है। ट्रस्ट कार्यालय प्रभारी प्रकाश गुप्ता के मुताबिक रकबा 446 के .107 हेक्टेयर भूमि लगभग 20 करोड़ की है। एयर आरोप लगाया है कि इस घोटाले में कई अधिकारी व कर्मचारियों के शामिल है। और भूमाफिया के साथ मिलकर बेचने के फिराक में है। उनका कहना है कि नगर निगम को इससे भारी नुकसान होगा। साथ ही बताया कि इस मामले में शासन के द्वारा पूर्व में खातेदारों के असामी को खारिज करने का आदेश दिया था। लेकिन कोई कार्यवाही नही किया है। इसलिए अब मुख्यमंत्री से माग की है कि पूरे प्रकरण निष्पक्षता से जांच कराई जाए। और दोषी सिद्ध जोन पर दंडात्मक कार्यवाही तय की जाए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Amravati Murder Case: उमेश कोल्हे की हत्या का मास्टरमाइंड नागपुर से गिरफ्तार, अब तक 7 आरोपी दबोचे गए, NIA ने भी दर्ज किया केसमोहम्‍मद जुबैर की जमानत याचिका हुई खारिज,दिल्ली की अदालत ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेजाSharad Pawar Controversial Post: अभिनेत्री केतकी चितले ने लगाए गंभीर आरोप, कहा- हिरासत के दौरान मेरे सीने पर मारा गया, छेड़खानी की गईIndian of the World: देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस को यूके पार्लियामेंट में मिला यह पुरस्कार, पीएम मोदी को सराहाGujarat Covid: गुजरात में 24 घंटे में मिले कोरोना के 580 नए मरीजयूपी के स्कूलों में हर 3 महीने में होगी परीक्षा, देखे क्या है तैयारीराज्यसभा में 31 फीसदी सांसद दागी, 87 फीसदी करोड़पतिकांग्रेस पार्टी ने जेपी नड्डा को BJP नेता द्वारा राहुल गांधी से जुड़ी वीडियो शेयर करने पर लिखी चिट्ठी, कहा - 'मांगे माफी, वरना करेंगे कानूनी कार्रवाई'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.