अयोध्या में 22 नवम्बर से 14 कोसी परिक्रमा शुरू, कार्तिक मेला गाइडलाइन जारी

- परम्परा रहेगी जारी, सिर्फ अयोध्यावासी ही करेंगे 14 कोसीय परिक्रमा, बाकी पर बैन
- जगह-जगह स्टॉल लगाएगा स्वास्थ्य विभाग
- पुलिस-प्रशासन मुस्तैद, कोने-कोने पर है नजर

By: Mahendra Pratap

Published: 21 Nov 2020, 06:19 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

अयोध्या. राम नगरी अयोध्या में कार्तिक मास परिक्रमा पुरानी परंपरा है। कार्तिक मेला आज से शुरू हो रहा है। इसके साथ ही 14 कोसी परिक्रमा भी शुरू हो जाएगी। पर इस बार कोरोना की वजह से काफी सख्ती है। इसलिए इस बार सिर्फ अयोध्यावासी ही 14 कोसी परिक्रमा करेंगे, बाकी पर बैन रहेगा। मतलब बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है। अयोध्या के स्थानीय लोग आईडी दिखाकर ही अयोध्या में प्रवेश पा सकते हैं। हिट लिस्ट में रहने वाली अयोध्या में सुरक्षा व्यवस्था को बढ़ा दिया गया है। एटीएस के कमांडो को अयोध्या में तैनात किया गया है। और खुफिया तंत्र को सक्रिय किया गया है। जिला स्वास्थ्य विभाग अलर्ट मोड पर है। कोरोना से बचाव के लिए जगह-जगह स्वास्थ्य विभाग के स्टॉल लगाए गए हैं। कोई भी अनहोनी होने पर तुरंत सुविधा मुहैया कराई जाएगी। परिक्रमा को लेकर जिला प्रशासन ने भी तैयारी पूरी कर ली है। कार्तिक मेला 30 नवंबर को समाप्त हो जाएगा। जिला प्रशासन ने अयोध्या में कार्तिक मेले के लिए गाइडलाइन जारी की है।

अयोध्यावासी व साधु संतों निभाएंगे परम्परा :- अयोध्या में परिक्रमा की एक पुरानी परंपरा है। जिसका निर्वाह आज विधि विधान पूर्वक किया जाता है। कार्तिक मास प्रारम्भ होते ही बड़ी संख्या में लोग कल्पवास करने अयोध्या पहुंचते हैं। जहां पूजा पाठ के साथ दान पुण्य कर अयोध्या की परिक्रमा करते है। और इस विधान को अयोध्या में मेले का स्वरूप दिया गया है। 14 कोसी व 5 कोसी परिक्रमा के लिए इस बार लाखों की संख्या में श्रद्धालु अयोध्या नहीं पहुंच पाएंगे। इस वर्ष परिक्रमा की परंपरा को अयोध्यावासी व साधु संत ही निभाएंगे। संतों की माने तो अयोध्या की यह परंपरा नहीं रोकी जा सकती है। बल्कि परंपरा को कोविड-19 एडवाइजरी की व्यवस्थाओं के बीच किया जाएगा।

पहले 14 कोसी फिर पंच कोसी परिक्रमा होगी :- कार्तिक परिक्रमा को लेकर तैयारी भी पूरी हो चुकी है। 22 नवंबर को 42 किलोमीटर की 14 कोसी परिक्रमा प्रारंभ होगी जो कि 23 नवंबर को देर शाम पूरी हो जाएगी। 25 नवंबर को 15 किलोमीटर की पंचकोसी परिक्रमा शुरू की जाएगी। जिला प्रशासन, अयोध्या पुलिस, नगर निगम व स्वास्थ्य विभाग बेहद अलर्ट मोड पर है। पूरे परिक्रमा मार्ग पर लाइट की व्यवस्था, साफ सफाई, बालू का छिड़काव, बैरिकेडिंग लगाया गया है वही कोविड-19 को देखते हुए जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग ने मेडिकल सेंटर व कोविड-19 सेंटर भी बनाए हैं।

सुरक्षा को लेकर मुस्तैद हैं जवान :- अयोध्या के साथ पूरे परिक्रमा क्षेत्र में सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त के बीच सकुशल निपटाने के लिए पर्याप्त सुरक्षाकर्मियों तैनात किए गए हैं। मार्ग पर पढ़ने वाले सभी प्रमुख स्थानों पर बैरिकेडिंग के साथ बड़ी मात्रा में पुलिस, पीएसी, आरएएफ के जवान तैनात किए गए हैं। इसके साथ ही पूरी परिक्रमा मार्ग को कैमरे की निगरानी में रखा गया है। जिसके लिए सैकड़ों की संख्या में सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया है। वही अयोध्या आने वाले सभी प्रवेश मार्गों को सील किए जाने के साथ ही ट्रैफिक डायवर्जन भी किया गया है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned