सीएम योगी द्वारा अयोध्या के लिए घोषित विकास योजनाओं में कछुए से धीमी रफ़्तार से हो रहा काम

सीएम योगी द्वारा अयोध्या के लिए घोषित विकास योजनाओं में कछुए से धीमी रफ़्तार से हो रहा काम

Anoop Kumar | Publish: Jun, 24 2019 12:20:18 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

ज़िम्मेदार अधिकारियों ने अपना रखा है लापरवाह रवैया, डीएम की जांच में सामने आई बड़ी लापरवाही

अयोध्या : जनपद में चल रहे विकास एवं निर्माण कार्यों का होगा साप्ताहिक स्थलीय सत्यापन, देखी जाएगी कार्यों की गुणवत्ता, साथ ही देखा जाएगा कि समय समयबद्ध व चरणबद्ध ढंग से कार्य संपादित हो रहा है या नहीं। स्थलीय सत्यापन के दौरान गुणवत्ता में कमी पाए जाने पर तुरंत जांच कमेटी बनाकर कराई जाएगी जांच। दीपोत्सव, श्रवण झूला मेला तथा कार्तिक पूर्णिमा मेला की तैयारी के दृष्टिगत स्वदेश योजना के अंतर्गत रामायण सर्किट अयोध्या में चल रहे निर्माण कार्यों की वास्तु स्थिति देखने जिलाधिकारी अनुज कुमार झा अधिकारियों की टीम के साथ पहुंचे ।

ये भी पढ़ें - शादीशुदा होने के बावजूद प्रेमी से वफा निभा रही थी कलयुगी बहन नाजायज़ सम्बन्धों में गयी मासूम की जान

ज़िम्मेदार अधिकारियों ने अपना रखा है लापरवाह रवैया, डीएम की जांच में सामने आई बड़ी लापरवाही

अयोध्या बाईपास के निकट मल्टीलेवल कार पार्किंग के निर्माण की धीमी प्रगति को देखकर जिलाधिकारी बेहद नाराज़ हुए और उन्हीहोंने सहायक अभियंता को माह नवंबर 2019 तक कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं । 16 करोड़ 44 लाख की लागत से बन रहा है मल्टी लेवल कार पार्किंगमें अब तक मात्र 5 फीसदी कार्य हुआ है |जय पेट्रोल पंप के पास बाईपास पर 7 करोड़ 39 लाख कीे लागत से निर्माणाधीन बस स्टेशन में 31 बसें व गैराज में 10 बसें खड़ी हो सकती हैं। पर्यटन नगरी अयोध्या में निर्माणाधीन बस स्टेशन को अपर्याप्त बताते हुए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने बस स्टेशन की क्षमता में वृद्धि हेतु बगल स्थित सांस्कृतिक विभाग की खाली पड़ी भूमि सहित दाएं ओर स्थित काश्तकारों की भूमि को सम्मिलित करने हेतु परीक्षण कर रिपोर्ट 10 दिन में पर्यटन अधिकारी से मांगी है।

ये भी पढ़ें - इस दीवाली अद्भुद अविश्वसनीय अकल्पनीय होगा अयोध्या का दीपोत्सव जानिये क्या है इस बार बेहद ख़ास
दिगंबर अखाड़ा में मल्टीपरपज हाल के फिनिशिंग का जो कार्य बचा है उसे 10 दिन में पूर्ण करने के साथ मल्टीपरपज हाल के परिसर में लैण्ड स्कैपिंग के कार्यों का आगणन तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। राम कथा पार्क के ओपन थिएटर के जीर्णोद्धार के साथ सेंड स्टोन लगाए जाने, सोलर लाइट एवं लैंडस्कैपिंग के पूर्ण हो चुके कार्यों का निरीक्षण जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने निर्देशित किया कि सिटी बाइट इंटरवेशन के अंतर्गत गेट के दाएं एवं बाएं तरफ गजीबो बनाए जाएं एवं वाटर क्याॅस्क का निर्माण भी कराया जाए। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देशित किया कि यह सुनिश्चित करें कि रामकथा पार्क के अंदर कोई भी वाहन प्रवेश न करें जो भी सामान अंदर जाना हो उसे वाहन से पार्क के बाहर ही उतारे तब संभालकर अंदर ले जाए ताकि महंगे पत्थर आदि छतिग्रस्त ना हो।

मंदिर नहीं बना तो क्या अयोध्या को पीएम मोदी से मिलने वाली है ऐसी सौगात की पूरी दुनिया रखेगी याद

योजनाओं के घोषित हुए महीनों बाद भी आधा काम भी नही हो सका

राम की पैड़ी में सिंचाई विभाग द्वारा ग्रेवरी फ्लो आदि के लिए लगाए जा रहे प्लांट के लिए न तोे राजकीय निर्माण निगम से कोई विचार-विमर्श किया गया और ना ही उच्च स्तर पर सूचित किया गया है यह आपत्तिजनक है। निर्माण कार्य के लिए बड़ी मात्रा में ट्रकों के आवागमन के चलते पत्थरों एवं लैंड स्कैपिंग को भारी मात्रा में क्षति पहुंच रही है। सीमित स्थलों पर ट्रकों के आवागमन सुनिश्चित की जाए। पैडी पर प्राइवेट खड़े वाहन को देखकर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने सहायक अभियंता को निर्देशित किया कि ऐसी व्यवस्था सुनिश्चित करें कि पैड़ी पर प्राइवेट वाहन खड़ी ना होने पाए। अयोध्या मुख्य मार्ग से हनुमानगढ़ी, कनक-भवन पैदल यात्री मार्ग के नवीनीकरण पर कोबल स्टोन काफी उबड़-खाबड़ लगाया गया है जिसे लेकर संत महात्मा व स्थानीय निवासियों ने आपत्ति दर्ज कराई है। निरीक्षण के दौरान ड्रेसिंग कराकर इसे चिकना बनाने का निर्देश कार्यदायी संस्था को दिया।

ये भी पढ़ें - बड़ी खबर : अयोध्या जिले के गोसाईगंज में एक लड़की के साथ हुई हुई सनसनीखेज़ वारदात से मचा हड़कंप

पंचकोसी परिक्रमा मार्ग पर ‘‘टूरिस्ट शेल्टर‘‘ निर्माण की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी ने सभी टूरिस्ट शेल्टर का कार्य शीघ्र पूरा कराने का निर्देश दिया ताकि उसका लाभ यात्रियों व श्रद्धालुओं को मिल सके। काशीराम आवास के सामने निर्माणाधीन 14 नग यात्री शेड के निर्माण के समय जिलाधिकारी ने यात्री शेड के साथ पुरुष व स्त्री के लिए अलग-अलग शौचालय निर्माण के साथ स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जाए साथ ही यह व्यवस्था भी करें कि पूर्व में निर्मित यात्री शेड पर कोई अवैध कब्जा ना हो ना ही उसमें जानवर विचरण करें उसे सदैव साफ सुथरा रखें। निरीक्षण के दौरान मुख्य राजस्व अधिकारी पीडी गुप्ता, पर्यटन अधिकारी, सहायक अभियंता एवं उप अभियंता उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम उपस्थित थे।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned