अवध की संस्कृति की पहचान कराएगी अयोध्या पर्व

दिल्ली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में तीन दिवशीय अयोध्या पर्व का होगा आयोजन

28, 29 फरवरी व 1 मार्च को होगा अयोध्या पर्व महोत्सव

अयोध्या : राम नगरी अयोध्या के सांस्कृतिक विरासत को विश्व मे स्थापित करने दिल्ली के इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र में तीन दिवसीय अयोध्या पर्व का आयोजन किया जाएगा। इस वर्ष यह तीन दिवशीय आयोजन 28 फरवरी से 1 मार्च तक चलेगा। जिसमें अयोध्या के 84 कोसी परिक्रमा की परिधि के आसपास के कई गुमनाम धरोहर स्थलों की प्रदर्शनी होगी। इसके अतिरिक्त विचार गोष्ठी, औपचारिक कार्यक्रमों के साथ फगुवा, लोक परंपरा व अवध की संस्कृति से जुड़े विविध आयाम इस आयोजन में शामिल किए जाएंगे। यह पूरा आयोजन प्रज्ञा संस्थान और कुछ सहयोगी संस्थाएं के द्वारा किया जा रहा हैं इस आयोजन से देश विदेश के लोगों का अयोध्या के बृहत्तर संस्कृति स्वरूप से साक्षात्कार होंगें इस अयोध्या पर्व का उद्घाटन दिल्ली में राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के साथ केंद्रीय मंत्री मंडल सदस्य भी शामिल होंगे।

अयोध्या पर्व के कार्यवाहक उमेश सिंह ने बताया कि अयोध्या पर्व के प्रदर्शनी को तीन भागों में बांटा गया है। पवेलियन वन जनपथ मैदान में 84 कोसी परिक्रमा परिधि के प्रमुख 148 धरोहर स्थलों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी जिसमें अयोध्या और आसपास के जिलों गोंडा बस्ती अंबेडकर नगर और बाराबंकी के धरोहर शामिल होंगे। अयोध्या की भूमिरज, सरयू जल सहित यहां का प्रमुख प्रसाद का स्टाल भी लगाया जाएगा और पवेलियन 3 में राजपथ मैदान में अयोध्या की खानपान परंपरा, लोक कला एवं संस्कृत की प्रदर्शनी लगाई जाएगी। कार्यक्रम में अयोध्या की लोककला फरवाही नृत्य की भी प्रस्तुति होगी। गांधी का रामराज्य विषय पर संगोष्ठी भी आयोजित की जाएगी।अंतिम दिन 1 मार्च को अयोध्या के संतों द्वारा रचित भजनों का गायन, महाकवि निराला की राम की शक्ति पूजा पर विशेष संगीत की प्रस्तुति की जाएगी।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned