Ayodhya : सपा नेता अखिलेश यादव की हत्या का पुलिस ने किया वर्कआउट सामने आई बड़ी वजह

Ayodhya : सपा नेता अखिलेश यादव की हत्या का पुलिस ने किया वर्कआउट सामने आई बड़ी वजह

Anoop Kumar | Publish: Jul, 20 2019 07:22:27 PM (IST) Ayodhya, Ayodhya, Uttar Pradesh, India

अयोध्या के महाराजगंज इलाके में हुई थी सपा नेता अखिलेश यादव की हत्या

अयोध्या : जनपद के ग्रामीण क्षेत्र महाराजगंज ( maharajganj ) इलाके में 15 जुलाई को हुई सपा नेता अखिलेश यादव ( akhilesh yadav ) की हत्या में शामिल दो मुख्य अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है | पकड़े गए अभियुक्तों में आदित्य सिंह पुत्र स्वर्गीय अशोक सिंह निवासी रतनपुर थाना महाराजगंज और अभिषेक सिंह पुत्र दिनेश सिंह निवासी केशवपुर थाना महाराजगंज शामिल है | ( ayodhya police ) पुलिस के मुताबिक पकड़े गए अभियुक्तों के पास से वारदात में अंजाम दी गई पिस्टल और बुलेट मोटरसाइकिल भी बरामद कर ली गई है | इसके अलावा वारदात को अंजाम देने में शामिल इनके चार अन्य साथियों में योगेंद्र ,पुलकित ,भीम और करन की तलाश की जा रही है |

ये भी पढ़ें - अयोध्या में सरयू तट के किनारे जलेंगे 2 लाख 50 हजार दीपक,आयोजन के गवाह बनेंगे विदेशी मेहमान

अयोध्या के महाराजगंज इलाके में हुई थी सपा नेता अखिलेश यादव की हत्या

पत्रकारों से बात करते हुए एसपी ग्रामीण शैलेंद्र सिंह ने बताया कि पुरानी रंजिश में अभियुक्तों ने गिरोह बनाकर और पूरी प्लानिंग के तहत सपा नेता अखिलेश यादव उर्फ टक्कू की उस समय हत्या कर दी जब वह जिम करने के बाद वापस अपने घर जा रहे थे | इसी दौरान शाम करीब 7:00 बजे इन सभी लोगों ने अखिलेश से मारपीट की और उसके बाद उसके सिर में गोली मार दी | जिसके बाद से पुलिस टीम इन सभी की तलाश कर रही थी | सर्विलांस टीम की मदद से इन सभी अभियुक्तों की सरगर्मी से तलाश की जा रही थी जिसमें दो मुख्य अभियुक्तों आदित्य सिंह और अभिषेक सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है | गिरफ्तारी की कार्रवाई अंजाम देने में पुलिस टीम थाना महाराजगंज के थानाध्यक्ष सुनील सिंह और पुलिस टीम थाना कोतवाली नगर का सहयोग रहा | | पकड़े गए अपराधियों के कब्जे से एक देशी पिस्टल मैगजीन के साथ दो जिंदा कारतूस और एक खोखा वहीं अभिषेक सिंह के कब्जे से एक देसी तमंचा एक जिंदा कारतूस एक खोखा और घटना में अंजाम अंजाम देने में शामिल बुलेट मोटरसाइकिल बरामद की गई है | पकड़े गए दोनों अभियुक्तों के खिलाफ पूर्व में भी अपराधिक मामले दर्ज हैं |

बड़ी खबर : रामलला की विशाल प्रतिमा निर्माण योजना को भी करना पड़ सकता है कोर्ट के फैसले का इंतज़ार,65 काश्तकारों ने डाली याचिका

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned