अयोध्या में संतो का बयान- जल्द हो फैसला नहीं तो संसद में पारित करेंगे प्रस्ताव

अयोध्या में संतो का बयान- जल्द हो फैसला नहीं तो संसद में पारित करेंगे प्रस्ताव

Akansha Singh | Publish: Mar, 14 2018 01:42:54 PM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 01:46:32 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

अयोध्या के संत देश संसद भवन में एक प्रस्ताव पारित कर अयोध्या में मंदिर बनाने का कार्य करने को लेकर बाध्य होंगे

अयोध्या. राम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण को लेकर यदि कोर्ट जल्द फैसला नहीं देती है अयोध्या के संत देश संसद भवन में एक प्रस्ताव पारित कर अयोध्या में मंदिर बनाने का कार्य करने को लेकर बाध्य होंगे। राम जन्मभूमि विवाद को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होनी है लेकिन पिछले कई सुनवाई को लगातार टाल दिया जा रहा है जिसको लेकर संतो ने भी निराशा हैं। श्री राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास के उत्तराधिकारी कमल नयन दास ने पत्रिका टीम से बात करते हुए बताया कि इस विवाद में फैसला तो निश्चित है कि हमारे ही पक्ष में आएगा वह स्थान पूर्ण रूप से भगवान राम का मंदिर था और अभी भी राम का मंदिर है उस स्थान पर पूजा पाठ चल रहा है तथा निर्णय आने के बाद भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनना प्रारंभ होगा।

 

यह निश्चित है हम सभी सदस्य आशा लगाए बैठे हैं तथा बताया कि अगले रामनवमी आने के पहले यहां मंदिर निर्माण का कार्य प्रारंभ हो जाएगा इसके लिए हम लोग तैयार है यदि ऐसा नहीं होता है तो संसद में सभी संत मिलकर एक प्रस्ताव लाया जाएगा उसके बाद रामजन्मभूमि का निर्माण होगा इसे अब कोई नहीं रोक सकता राम मंदिर बहुत जल्दी प्रारंभ होने वाला है तथा कोर्ट भी जल्द फैसला करने की बात कह रहा है वही विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने बताया कि सुप्रीम कोर्ट की यह अपनी प्रतिक्रिया है कि वह किस प्रकार से सुनवाई करते हैं तथा बताया कि राम जन्मभूमि विवाद में रोड़ा अटकाने का कार्य कांग्रेस कर रहे हैं जो कि मुस्लिम पक्षकार हैं यदि नियमित सुनवाई होता है तो आशा है कि जल्द से जल्द निर्णय आएगा और जल्द राम मंदिर निर्माण का निर्माण किया जाएगा जो कि हम लोग 1528 से प्रतीक्षा कर रहे हैं और वह निश्चित ही पूर्ण होगा ।

Ad Block is Banned