अखिलेश यादव पर चंपत राय का दो टूक भगवान दे बुद्धि, संतों ने भी दी चेतावनी

राम मंदिर निर्माण में निधि समर्पण अभियान पर अखिलेश यादव कितनीकी टिप्पणी से अयोध्या के संत नाराज

By: Satya Prakash

Published: 10 Feb 2021, 07:00 PM IST

अयोध्या : राम मंदिर निर्माण को लेकर देश में चल रहे निधि समर्पण अभियान पर अखिलेश यादव के बयान से संतों में आक्रोश है दरसल अखिलेश यादव ने राज्यसभा सदन के दौरान निधि समर्पण अभियान को लेकर भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि भाजपा चंदाजीवी है जिसको लेकर अयोध्या में राजनीति पार्टी से जुड़े प्रतिनिधि ही नही बल्कि संत समाज ने भी निंदा की है। तो वहीं राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने दो टूक में कहा कि भगवान सबको बुद्धि प्रदान करें।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव को अयोध्या के संतों ने दी चेतावनी

हनुमानगढ़ी के पुजारी राजू दास ने कहा कि अखिलेश यादव सदैव बाबरजीवी रहे हैं। वही आरोप लगाया कि मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव हमेशा उत्तर प्रदेश में हिंदू समाज के मठ मंदिर व साधु संतों के ऊपर जिस प्रकार से प्रताड़ना दिया है यह हर व्यक्ति जानता है उसके बाद आप समाज में लोगों राम भक्तों को चंदाजीवी बताने का काम कर रहे हैं। अभी भी अखिलेश यादव होश में आ जाओ नहीं तो कभी भी सत्ता में आने इच्छा संभव नहीं होगा।

वही महंत परमहंस दास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान को अखिलेश यादव ने समझा नहीं अखिलेश यादव ने जो कहा है कि किसान आंदोलन करने वाले लोगों को भाजपा आंदोलन जी भी कहती है लेकिन जो डोर टू डोर चंदा ले रहे हैं उन्हें चंदाजीवी क्यों नहीं कहा जाता है। वही कहा कि अखिलेश यादव को अभी अध्ययन करने की जरूरत है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बात को अखिलेश यादव ना समझें और ना ही आगे भी समझ पाएंगे। वही कहा कि जब इन लोगों के दिल दिमाग में नफरत भरी है तो ऐसे लोगों को किसी की बात समझ में नहीं आ सकती है।

संविधान के पन्नों पर अंकित है भगवान राम का चित्र : मेयर

राजनीतिक दृष्टि से भी लोग अखिलेश यादव के बयान से नाराज है और अयोध्या के स्थानीय विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने कहा कि अखिलेश यादव या भूल गए हैं कि राम मंदिर हर हिंदू के आस्था का प्रश्न है और वह भी हिंदू हैं और राम मंदिर के लिए चंदा नहीं इकट्ठा नहीं किया जा रहा बल्कि लोग स्वेच्छा से समर्पण की भावना से मंदिर निर्माण के लिए राशि दे रहे हैं। और देश का हर परिवार इस कार्य के लिए देना चाहता है वही कहा कि देखा जा रहा है कि पूरी दुनिया से लोग दर्शन के लिए अयोध्या रहे हैं और मंदिर निर्माण के लिए पूरी दुनिया से लोग आ रहे हैं और मंदिर निर्माण में अपना सहयोग देने की इच्छा भी कर रहे हैं यही नहीं बहुत से लोग सोना चांदी भी दे रहे हैं। इसलिए यह बात अखिलेश यादव को नहीं करनी चाहिए क्योंकि राम मंदिर सबका है यह देश के गौरव के सम्मान का है।

वही अयोध्या के महापौर ऋषिकेश उपाध्याय ने कहा कि या उनकी हताशा और निराशा है जब उनके पिता मुलायम सिंह यादव राम भक्तों पर गोली चलवा सकते हैं और जो इस देश के राष्ट्रपति हैं भगवान राम इस देश के राष्ट्रपति भी हैं मर्यादा पुरुषोत्तम कहे जाते हैं और भारत के संविधान में सभी पन्नों पर भगवान राम के चित्र अंकित हैं उनके विषय में इस प्रकार का भाषा का प्रयोग करना एक बहुत ही निंदनीय है।

Show More
Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned