अयोध्या की जलेबी दही भारत के बेस्ट फूड में हुआ शामिल

Ruchi Sharma

Publish: Jan, 14 2018 02:15:38 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
अयोध्या की जलेबी दही भारत के बेस्ट फूड में हुआ शामिल

अयोध्या की जलेबी दही भारत के वेस्ट फूड में हुआ शामिल

अयोध्या. भगवान के दर्शन के लिए लाखों की संख्या में प्रति वर्ष अयोध्या श्रद्धालु व पर्यटक आते है। वही अब पूरे भारत में तथा विदेशी पर्यटकों में अयोध्यादही जलेबी बेस्ट फूड बन गई है। वैसे तो अयोध्या में यह बहुत ही पुराना फूड है, अयोध्या में आने वाले लोग अक्सर अयोध्या की कुल्हड़ की दही जलेबी खाते रहे है। लेकिन अब यह फूड अयोध्या से उठ कर भारत में एक मुकाम हासिल करने के कगार पर है।

अयोध्या की यह दही-जलेबी नई दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में नेशनल स्ट्रीट फूड फेस्टिवल-2018 की शान बन गई है। यह फेस्टिवल नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया (नासवी) एवं फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंडर्स अॉथारिटी ऑफ इंडिया (एफएसएसआई) के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय हुआ। नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया की टीम ने पहले देश के भ्रमण की श्रृंखला में अयोध्या का भी भ्रमण किया था और अयोध्या के दही जलेबी तथा इमारती रबड़ी बेस्ट मानकर नेशनल फूड फेस्टिवल में शामिल होने का न्यौता दिया था।

नेशनल एसोसिएशन ऑफ स्ट्रीट वेंडर्स ऑफ इंडिया के आमन्त्रण पर फेस्टिवल में शामिल होने गए दीपनरायन मौर्य ने पत्रिका टीम से संपर्क सूत्र के मध्यम से बात करते हुए बताया कि अयोध्या का दही जलेबी को नेशनल फूड फेस्टिवल एक बड़ा स्थान मिला है।

नेशनल स्ट्रीट फूड फेस्टिवल-2018 द्वारा बेस्ट स्टॉलो में नम्बर एल-2 लीजेंड श्रेणी में जगह दिया गया है। बताया कि इस फेस्टिवल में देश के 25 राज्यों 110 विविध विशिष्ट खाद्यान्नों से जुड़े प्रतिनिधियों का 300 स्टाल लगाये गए है। राम नगरी की बनी कुल्हड़ की दही जलेबी देश के लोगों के अलावा विदेशों से आये पर्यटकों ने भी लगातार इसका स्वाद लेते रहे।

इमारती रबड़ी को भी इस फेस्टिवल में रखने को उचित नहीं माना और अयोध्या के होने के कारण इस फूड को भगवान के प्रसाद का भी रूप पर्यटकों ने दे डाला तथा बताया कि इस कार्यक्रम में शामिल होने अयोध्या के एक टीम दिल्ली पहुंची। जहां फेस्टिवल में हिस्सा लेने से पहले फूड सेफ्टी एण्ड स्टैंडर्स अॉथारिटी ऑफ इंडिया की ओर विशेषज्ञों की टीम द्वारा प्रशिक्षण दिया था।

विशेषज्ञों की ओर से दिए गए करीब छह घंटे के प्रशिक्षण में पर्सनल हाइजीन, फूड सेफ्टी, गार्बेज डिस्पोजिशन, लाइसेसिंग व ग्राहकों के साथ व्यवहार के सम्बन्ध में सभी प्रतिनिधियों को प्रशिक्षिण दिया गया। इस नेशनल फूड फेस्टिवल-2018 की कुछ झलकियां भी दिखाई गई है।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned