राम के काम के लिए बजरंगी सेना की बढ़ी सक्रियता : भुलेंद्र

-अयोध्या में बजरंग दल की त्रिशूल दीक्षा का कार्यक्रम हुआ रद्द

-कारसेवकपुरम में होने त्रिशूल दीक्षा का कार्यक्रम स्थगित

-संगठन विस्तार को लेकर कार्यकर्ताओं की हुई बैठक

अयोध्या : बजरंग दल के त्रिशूल दीक्षा कार्यक्रम को राम नगरी अयोध्या में मंदिर मस्जिद विवाद पर फैसले को देखते हुए स्थगित कर दिया गया। दरसल अवध प्रान्त में वार्षिक कार्यक्रम के अनुसार इस वर्ष भी बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संगठित करने के साथ हिन्दू समाज की रक्षा का दायित्व को लेकर त्रिशूल दीक्षा का आयोजन प्रान्त के गांव गांव में किया जा रहा है। इसी कार्यक्रम के अनुसार अयोध्या के विहिप मुख्यालय कारसेवकपुरम में भी किया जाना था लेकिन अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में 40 दिन के सुनवाई को पूरी कर अब नवंबर में फैसला सुना सकता है। यह दीक्षा का कार्यक्रम इसके पहले भी एक बार टाला जा चुका है और प्रशानिक दबाव से अयोध्या में इस आयोजन को स्थगित कर दिया गया।


विहिप अवध प्रान्त प्रभारी भुलेंद्र के मुताविक अयोध्या में आने वाले फैसले को लेकर समाज मे कोई गलत भ्रम न फैले इसके लिए त्रिशूल दीक्षा का कार्यक्रम अयोध्या में रद्द कर दिया गया है। वहीं प्रान्त में चल रहे दीक्षा ले आयोजन को लेकर बताया कि आज देश के सभी संतों व हिन्दुओ की इच्छा है कि भगवान श्री राम टेंट से निकलकर मंदिर में विराजमान हो।जिसके लिए सुप्रीम कोर्ट इस पर अपना फैसला सुनाए यही सब की इच्छा है। राम मंदिर निर्माण को लेकर हमेशा विश्व हिंदू परिषद जन जागरण का कार्य किया है वह आज भी किया जा रहा है कोई नया कार्य प्रारंभ नहीं किया गया है बताया कि बजरंग दल का निर्माण भगवान राम की कार्यों को करने के लिए हुआ है। और आज बजरंग दल भगवान श्री राम की भव्य मंदिर में रामलला का प्राण प्रतिष्ठा प्रतिस्थापित करना चाहता है त्रेता युग में भगवान श्री राम के प्रति कार्य करने के लिए बजरंगबली अपनी भूमिका निभाई उसी प्रकार भगवान श्री राम लला के भव्य मंदिर निर्माण के लिए बजरंग दल अपनी भूमिका निभाएगा। आज कारसेवकपुरम में पूर्व की भांति कार्यकर्ताओं के जागरण व संगठन के विस्तार दिए जाने को लेकर बैठ की गई हैं।

Satya Prakash
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned