पश्चिम बंगाल में हिंसा से नाराज संत का बड़ा कदम

महंत परमहंस दास ने राष्ट्रपति से पश्चिम बंगाम में हिंसा के बाद चुनाव रद्द करने की मांग

By: Satya Prakash

Published: 05 May 2021, 11:38 AM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
अयोध्या. बंगाल में चुनावी मतगणना के बाद TMC के कार्यकर्ताओं द्वारा किये गए हिंसा के विरोध में अयोध्या में तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने एक दिवसीय उपवास रख सत्याग्रह कर राष्ट्रपति से बंगाल में घुसपैठिए और रोगियों की नागरिकता समाप्त करने के साथ चुनाव रद्द करने की मांग की है।


तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने कहा कि देश मे संविधान सर्वोपरि माना गया है। जहां इस संविधान का उलंघन हो तो सभी देशवाशियों को एकजुट हो करके संविधान की रक्षा के लिए आवाज उठाना चाहिये। दरसल पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी के चुनाव जीतते ही अन्य वोटरों के घरों जला दिए गए। और हिंसा के माध्यम से एक भय का माहौल पैदा किया गया है। यह एक सोची समझी साजिश है कि भविष्य को व्यक्ति किसी दूसरे पार्टी का प्रचार न कर सके। एक तरह से लोग तंत्र की हत्या की जा रही है। इसलिए पीड़ितों को न्याय मिले और दोषियों सख्त कार्यवाही हो इसलिए आज एक दिवशीय उपवास कर रहा हूँ और पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग करता हूँ। और जिस प्रकार से ममता बनर्जी ने पुरे क्षेत्र में आतंकवादी रवैया अपना रही है। और जिस परिवार ने हत्या हुई है उस परिवार को आर्थिक मदद एवं सुरक्षा दी जाए पश्चिम बंगाल से घुसपैठियों और रोहिंग्या मुसलमानों को तत्काल बाहर किया जाए।

Satya Prakash
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned