रामनगरी में बोले मुख्यमंत्री योगी- अयोध्या के साथ सदियों तक बहुत अन्याय हुआ, अब अयोध्या को मिलेगा उसका गौरव

- अयोध्या को वैदिक सिटी के रूप में विश्व मानचित्र पर गौरव दिलाएंगे सीएम योगी
- श्रीराम द्वारा सत्य, धर्म और न्याय की लड़ाई जीतने के बाद का उत्सव है यह दीपोत्सव

By: Neeraj Patel

Published: 13 Nov 2020, 08:39 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामनगरी अयोध्या में श्रीराम के स्वरूप का राज्याभिषेक करने के बाद कहा कि श्रीराम की अयोध्या के साथ सदियों तक बहुत अन्याय हुआ। जो अयोध्या जन्म और जीवन दोनों तारती है वह कुछ लोगों की कुत्सित सोच के कारण वर्षों तक अपमानित होती रही है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। अयोध्या को उसका गौरव मिलेगा। हम अयोध्या को वैदिक सिटी के रूप में विश्व मानचित्र पर गौरव दिलाएंगे। रामनगरी के सरयू तट स्थित रामकथापार्क में चतुर्थ दीपोत्सव के मौके पर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि पीएम मोदी की परिकल्पना है कि अयोध्या दुनिया की सबसे खूबसूरत नगरी के रूप में विकसित हो। इस नगरी का विकास वैदिक रामायण सिटी के रूप में किया जाना है और इसके लिए केंद्र एवं प्रदेश सरकार दोनों प्रयासरत हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने याद दिलाया कि 2020 का यह उत्सव ऐसे समय में आया जब देश-दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है। यशस्वी पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने न केवल कोरोना के खिलाफ लड़ाई मजबूती से लड़ी है, बल्कि राम राज्य की अवधारणा को भी चरितार्थ कर रहा है। यह अवसर हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। दुनिया कोविड- 19 से अस्त-व्यस्त है। उसके बावजूद भारत के स्वाभिमान-सम्मान को आगे बढ़ाने और भारत के 130 करोड़ लोगों को बचाने का जो कार्य हुआ है, वह अछ्वुत है। इस दौर में जो सबसे बड़ा कार्य हुआ है, वह रामजन्मभूमि पर मंदिर निर्माण की शुरुआत है। यह सब कुछ पीएम मोदी के कारण ही संभव हो पाया है।

मुख्यमंत्री ने दीपोत्सव का निहितार्थ भी परिभाषित कर कहा कि आज का जो दीपोत्सव है, वह श्रीराम द्वारा सत्य, धर्म और न्याय की लड़ाई जीतने के बाद का उत्सव है और इस उत्सव के माध्यम से किसी भी मत-मजहब का भारतवंशी हो, वह श्रीराम के मूल्यों और आदर्शों से जुड़ेगा। मुख्यमंत्री ने निकट भविष्य का खाका खींचते हुए कहा, हमें इस आयोजन को दुनिया में पहुंचाना है। इससे अयोध्या की ब्रांडिंग तो होगी ही, दुनिया के लोगों को श्रीराम का आशीर्वाद भी मिलेगा। देश की आजादी के बाद से ही इस देश को राम राज्य की प्रतीक्षा है और आज प्रधानमंत्री के नेतृत्व में यह स्वप्न साकार हो रहा है। बगैर भेद-भाव के सभी मत-मजहब एवं जाति के लोगों का विकास किया जा रहा है। घर-घर में रोशनी दी जा रही है।

अयोध्या से जनकपुर तक जल्द बनेगा मार्ग

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि आज कोरिया, फिजी, थाईलैंड, जापान एवं नेपाल जैसे देशों को अयोध्या से जोड़ने का कार्य प्रधानमंत्री के कारण संभव हो पा रहा है। अयोध्या से जनकपुर तक मार्ग का निर्माण तेज गति से हो रहा है। कुछ ही माह बाद जब यह मार्ग तैयार होगा, तब मात्र पांच-छह घंटे में अयोध्या से सीतामढ़ी तक का सफर संभव हो सकेगा। राम वनगमन मार्ग भी विकसित किया जा रहा है और यह मार्ग बनने पर चित्रकूट तक का सफर तीन-साढ़े तीन घंटे में संभव होगा। वहीं मुख्यमंत्री के साथ श्रीराम के स्वरूप का अभिषेक करने साथ राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने चतुर्थ दीपोत्सव के उद्घाटन सत्र की अध्यक्षता भी की। उन्होंने कहा, अयोध्या धर्म-अध्यात्म एवं संसकृति की नगरी है और मैं मुख्यमंत्री की प्रशंसा करती हूं कि उनके प्रयास से आयोजित दिव्य दीपोत्सव अयोध्या को पूरी दुनिया में पर्यटन के मानचित्र पर आलोकित कर रहा है।

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned