दीपोत्सव में विश्व रिकॉर्ड बनाने के अगले ही दिन सीएम योगी ने अयोध्या में राम मूर्ति निर्माण पर किया बड़ा ऐलान

दीपोत्सव में विश्व रिकॉर्ड बनाने के अगले ही दिन सीएम योगी ने अयोध्या में राम मूर्ति निर्माण पर किया बड़ा ऐलान

Abhishek Gupta | Publish: Nov, 07 2018 02:22:07 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

दीपावली के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में भगवान श्री रामलला व हनुमान गढ़ी का दर्शन किए जिसके बाद उन्होंने कहा कि अयोध्या में ही भगवान श्री राम का मंदिर था, हैं और रहेगा।

अयोध्या. दीपावली के मौके पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या में भगवान श्री रामलला व हनुमान गढ़ी का दर्शन किए जिसके बाद उन्होंने कहा कि अयोध्या में ही भगवान श्री राम का मंदिर था, हैं और रहेगा। इसी के साथ उन्होंने राम की पैड़ी में पवित्र सरयू जल लाने, श्रीराम की पूजनीय मूर्ति निर्माण, भगवान राम के नाम पर एयरपोर्ट व राजा दशरथ के नाम पर मेडिकल कॉलेज के निर्माण को लेकर कई बड़ी घोषणाएं की।

ये भी पढ़ें- भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने फैजाबाद का नाम अयोध्या किए जाने पर दिया बहुत बड़ा बयान, रामभक्तों के लिए की यह बड़ी घोषणा

अयोध्या में सीएम योगी आदित्यनाथ ने पत्रकारों के साथ बात करते हुए बताया कि अयोध्या की सकारात्मक तस्वीर देश और दुनिया के सामने पेश हो, इसके लिए केंद्र और प्रदेश सरकार ने बहुत सारी योजनाएं बनाई हैं। इन योजनाओं को धरातल पर उतारने के लिए कई स्थानों का सर्वे किया गया है और हमारा विश्वास है कि आने वाले समय में अयोध्या दुनिया के बेहतरीन शहरों में दर्ज होगा। अयोध्या पंचकोशी व चौदह कोसी क्षेत्र का भी विकास होगा।

ये भी पढ़ें- अखिलेश-डिंपल को स्टेडियम की बड़ी स्क्रीन पर देख दर्शकों में दिखी कमाल की दीवानगी, अनोखे तरीके से किया धन्यवाद, बदले में अखिलेश ने की बहुत बड़ी चीज

राम की पैड़ी में आएगी पवित्र सरयू-

उन्होंने आगे कहा कि अभी तो पावन सरयू नदी को अविरल व निर्मलता को बनाए रखने के लिए आवश्यक कदम उठाए जाएंगे। अयोध्या धार्मिक और आध्यात्मिक नगरी होने के नाते देश और दुनिया के करोड़ों लोग यहां पर आते हैं। उन लोगों की श्रद्धा व भावनाओं को ठेस ना पहुंचे इसलिए स्वच्छता के बारे में विशेष निर्देश दिया गए हैं। इसके साथ ही यहां पर अन्य सुविधाओं के लिए भी बुनियादी विकास करने का हमारा प्रयास है। राम की पैड़ी के अपस्ट्रीम में एक डैम बनेगा। जैसे हरिद्वार के भीमगोड़ा से गंगा की एक पावन धारा को हर की पेड़ी की ओर ले जा कर आगे बढ़ाया गया है, वैसे ही अयोध्या में भी राम की पैड़ी में अविरल और निर्मल जल पवित्र सरयू आ सकेगी। हर सीजन में श्रद्धालु सरयू के पावन जल में डुबकी लगा सके, यहां पर इस प्रकार की व्यवस्था करने के आदेश दिए गए हैं।

ये भी पढ़ें- फैजाबाद के बाद अब बदलेगा इस शहर का नाम, सदन में पेश हो चुका है प्रस्ताव, इन्होंने किया बहुत बड़ा ऐलान


श्रीराम की पूजनीय मूर्ति मंदिर और दर्शनीय मूर्ति होगी सरयू घाट के पास -

सीएम ने कहा कि हमारा प्रयास होगा की अयोध्या में माता कौशल्या के नाम पर विधवा महिलाओं व अनाथ बच्चों के लिए भी एक सदन का निर्माण हो। जल्दी भूमि की उपलब्धता होते ही कार्य प्रारंभ हो जाएगा। सीएम योगी ने मंगलवार को फैजाबाद का नाम बदल कर अयोध्या कर दिया था, जिससे कई लोग नाखुश थे। वे उम्मीद में थे कि सीएम राम मूर्ति निर्माण व राम मंदिर पर कोई ऐलान करेंगे। और आज सीएम योगी ने मंदिर निर्माण पर भले ही बहुत बड़ा ऐलान न किया हो, लेकिन राम मूर्ति निर्णाण की उन्होंने औपचारिक घोषणा कर दी, जिससे लोगों के चेहरे पर मुस्कान आ गई है। सीएम योगी ने कहा कि भगवान श्री राम की एक दर्शनीय मूर्ति स्थापित होगी। इसकी भूमि के लिए दो स्थलों का निरिक्षण किया गया हैं। अयोध्या की पहचान मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की पूजनीय मूर्ति मंदिर और दर्शनीय मूर्ति सरयू घाट के पास होगी। अयोध्या की पहचान बन सके और आस्था का भी सम्मान हो सके, इसको लिए अंतिम स्वरूप देने के कार्य किए जा रहे हैं। सर्वे हो रहे हैं। अलग-अलग आर्किटेक्ट द्वारा अलग-अलग डिजाइन तैयार की गई हैं।

भगवान राम के नाम पर एयरपोर्ट व राजा दशरथ के नाम पर मेडिकल कॉलेज का होगा निर्माण-

उन्होंने कहा कि अयोध्या में एयरपोर्ट के विस्तारीकरण और भूमि अधिकरण के लिए पहले ही जिला प्रशासन को निर्देश दिए जा चुके हैं। मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के नाम पर एक नया एयरपोर्ट बनेगा। वहीं निर्माणाधीन मेडिकल कॉलेज को महाराजा दशरथ मेडिकल कॉलेज के नाम पर रखने का निर्णय लिया गया है।

अयोध्या में मंदिर था मंदिर है और मंदिर रहेगा-

सीएम योगी आदित्यनाथ ने आगे कहा अयोध्या में राम मंदिर था, मंदिर है और मंदिर रहेगा। इसमें कोई संदेह किसी को नहीं है। भगवान राम जहां विराजमान हैं, वहां भव्य स्वरूप देने की लोगों की मांग है। इसके लिए सरकार भी अपने स्तर पर प्रयास कर रही है और मुझे लगता है इसका कोई ना कोई सकारात्मक हल निकलेगा। भारत की संवैधानिक व्यवस्था पर हम सबका विश्वास है और संवैधानिक दायरे में रहकर इस समस्या का समाधान निकाला जाएगा।

प्रत्येक वर्ष दीपोत्सव के लिए होगी पूरी व्यवस्था-

इसके साथ ही सीएम योगी ने कहा कि अयोध्या में प्रत्येक वर्ष दीपोत्सव हो, इसके लिए पूरी व्यवस्था का प्रांतीयकरण करने की योजना है। होली का उत्सव बरसाना वृंदावन के साथ जुड़ा है, कुम्भ का आयोजन प्रयागराज के साथ जुड़ा है, ऐसे ही अलग-अलग कार्यक्रमों को अलग-अलग शहरों के साथ जोड़ कर सबका प्रांतीयकरण किया जाएगा जिससे ऐसे आयोजनों में कभी किसी प्रकार की बाधा नहीं आ पाएगी। इसके बाद अब हमारा फोकस कुंभ के कार्यक्रमों पर होगा। कुंभ के दो परियोजनाओं के उद्घाटन कार्यक्रम में प्रधानमंत्री जी को आमंत्रित करने और उनका मार्गदर्शन लेने का प्रयास होगा।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned